पटना

0
267

पटना-एनडीए सरकार ने बिहार को जनताराज में बदला : अमित शाह

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि बिहार में लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के शासन में लोगों ने जंगलराज देखा है। एनडीए की सरकार ने बिहार को जंगलराज से जनताराज में बदला है। नीतीश कुमार और सुशील मोदी के आने के बाद बिहार विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। अमित शाह मंगलवार को पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र के मसौढ़ी में एनडीए प्रत्याशी रामकृपाल यादव के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।

अमित शाह ने कहा कि उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि जम्मू-कश्मीर का अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए। कुछ दिन पहले उनके एक नेता ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे। इन सब बातों पर कांग्रेस ने चुप्पी साध रखी है। लालू-राबड़ी ने भी चुप्पी साध रखी है। इनलोगों को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वे इन बयानों पर उमर अब्दुल्ला के साथ हैं? आतंकवादियों के साथ मोदी सरकार सख्ती से निपटेगी। अगर सीमापार से गोली आएगी तो इधर से गोला जायेगा। हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे। कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों में जब मैं गया तो भाषाएं बदलीं, पहनावा बदला, खानपान बदला, लेकिन एक नारा नहीं बदला, वो नारा है, मोदी-मोदी। इससे तय होता है कि देश की जनता ने नरेन्द्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लिया हैआयुष्मान भारत से अब तक 24 लाख का हुआ इलाज

शाह ने कहा कि मोदी की सरकार बनने के बाद देश के 50 करोड़ गरीबों के लिए ढेर सारी योजनाएं आई हैं। कांग्रेस की सरकार में गरीब इलाज कराने के लिए बेबस था। आज आयुष्मान भारत योजना से देश के करीब 24 लाख लोगों का मुफ्त इलाज हुआ है। दस साल यूपीए की सरकार थी तो 13वें वित्त आयोग में 1 लाख 93 हजार करोड़ बिहार को दिये थे। एनडीए की सरकार ने पांच साल में छह लाख छह हजार करोड़ से भी ज्यादा का आवंटन बिहार के विकास के लिए किया है। शाह ने कहा कि हमारे संकल्प पत्र में सभी किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, छोटे तथा खेतिहर किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन की योजना, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए एक लाख करोड़ की क्रेडिट गारंटी आदि योजना को शामिल किया गया है।