पिछडा वर्ग के हकों को लेकर 22 मई को फतेहाबाद में होगी महारैली

0
6

-पत्रकारों से रूबरू हुए पूर्व विधायक रामनिवास घोडेला

UNA NEWS
HARYANA BUREAU
सिरसा।।।।((सतीश बंसल)

बरवाला के पूर्व विधायक रामनिवास घोड़ेला ने कहा है कि पिछड़ा वर्ग के हक और हुकूक की लड़ाई एकजुट होकर लड़ेंगे और तब तक लड़ेंगे जब तक उसको उसका माकूल हक नहीं मिल जाता। फतेहाबाद में 22 मई को प्रदेश स्तरीय पिछड़ा वर्ग सम्मेलन प्रस्तावित है और इस सम्मेलन की ताकत सरकार को मजबूर करेगी।
घोडेला आज एक निजी होटल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने पिछड़े वर्ग के लोगों का इस्तेमाल वोट के लिए किया है और उनके हकों पर जो चाबुक चलाया है। यह चाबुक सरकार के ताबूत की कील साबित होगा। पूर्व विधायक घोड़ेला ने कहा कि देश महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, अत्याचार से जूझ रहा है। कांग्रेस राज में महंगाई पर नंगा नाच करने वाले भाजपा नेता आज आसमान छूती महंगाई पर मौन क्यों है। पिछड़े वर्ग का हित व भला कांग्रेस की नीतियों में निहित है और पिछड़े वर्ग के लोगों को भाजपा की जुमलेबाजी झूठ बाजारी से बचना चाहिए। इस सम्मेलन में प्रदेश भर से पिछड़ा वर्ग के लोग भाग लेंगे और प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा अपनाई जा रही पिछड़ा वर्ग विरोधी नीतियों पर विस्तार से चर्चा प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर के नेता करेंगे। उन्होंने कहा कि चाहे क्रीमिलेयर का मामला हो या जातीय जनगणना जैसे गंभीर मुद्दे हो, केंद्र व प्रदेश सरकार ने पिछड़ा वर्ग के हितों पर लगातार कुठाराघात किया है। उन्होंने कहा कि क्रीमिलेयर के मामले में माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की खुली अवहेलना की जा रही है। पिछड़ा वर्ग के बच्चों को स्कालरशिप देने के मामले में भी पक्षपात बरता जा रहा है और न ही समाज के गरीब लोगों को सौ-सौ गज के प्लाट आबंटित हुए हैं, जोकि हुडा सरकार के राज में दिए गए थे। हुडा साहब ने जो आरक्षण 10 प्रतिशत से बढाकर 16 प्रतिशत किया था, उसे बढाकर तुंरत प्रभाव से 27 किया जाए। उन्होंने कहा कि फतेहाबाद में होने वाले पिछड़ा वर्ग के सम्मेलन में उक्त मुद्दों पर गंभीर चर्चा की जाएगी और सरकार के खिलाफ एक व्यापक रणनीति तैयार करते हुए पिछड़ा वर्ग के हकों की आवाज को बुलंद किया जाएगा।