पुरानी पेंशन बहाली व निजीकरण के विरोध मे अटेवा की विशाल पदयात्रा–

0
25

उत्तर प्रदेश जौनपुर; अटेवा पेंशन बचाओ मंच के प्रांतीय आह्वान पर जनपद जौनपुर द्वारा जिला कलेक्ट्रेट परिसर से जिला संरक्षक आलोक कुमार रघुवंशी अध्यक्ष चंदन सिंह महामंत्री संदीप कुमार चौधरी व कार्यक्रम प्रभारी इंदु प्रकाश यादव के नेतृत्व में एनपीएस निजीकरण भारत छोडों पदयात्रा मुख्यालय के मुख्य मार्गो से होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय में एनपीएस एवं निजीकरण के विरोध में माननीय मुख्यमंत्री जी के संबोधन में जिलाधिकारी जौनपुर को ज्ञापन दिया गया। इस मौके पर जिला संरक्षक आलोक कुमार रघुवंशी ने कहा की 2005 के बाद नियुक्त शिक्षक एवं कर्मचारी नई पेंशन व्यवस्था के दंश को झेल रहे हैं आज वे अपने भविष्य के लिए हजारों की संख्या में पद यात्रा में शामिल होकर सरकार के प्रति नाराजगी जताये , नई पेंशन एवं निजीकरण के विरोध में शिक्षक एवं कर्मचारियों में अत्यंत रोष व्याप्त है। अब नहीं चलेगा भारत में एक देश दो विधान क्योंकि पुरानी पेंशन कार्मिकों का संविधानिक हक है। जिसके लिए अंत तक संघर्ष करेंगे।लोक निर्माण विभाग जौनपुर के जिला अध्यक्ष संजय सिंह के नेतृत्व में विशाल सहयोग समर्थन दिया गया। उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ , उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ, चिकित्सा स्वास्थ्य महासंघ, आदि के जिला अध्यक्ष व पदाधिकारियो ने पेंशन पदयात्रा में भाग लिया।PWD के जिला अध्यक्ष ने संजय सिंह ने कहा अटेवा जिस तरह से से पुरानी पेंशन बहाली के लिए संघर्षरत है एक दिन निश्चित पुरानी पेंशन बहाल होगी। उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी जौनपुर से संजय चौधरी व अमर बहादुर यादव ने कहा की अटेवा पुरानी पेंशन बहाली के आंदोलन का जनक है जिसने देश के शिक्षक एवं कर्मचारियों को संगठित कर इस आंदोलन को शून्य से शिखर पर पहुंचाने का काम किया है।ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारी ऐसो से डा प्रदीप सिंह व फूल चंद कन्नौजिया ने आह्वान किया कि आज पुरानी पेंशन बहाली को लेकर शिक्षक एवं कर्मचारियों संगठित होकर संघर्ष कर रहा है जिसे सरकार को समझना होगा। अटेवा कार्यक्रम प्रभारी इंदु प्रकाश यादव ने कहा निजीकरण देश की अर्थव्यवस्था के लिए अभिशाप है सरकार को देश की अर्थव्यवस्था हित के लिए निजीकरण पर विराम लगाना होगा। लेखपाल संघ के जिला संजय यादव ने कहा कि नई पेंशन छलावा मात्र है पुरानी पेंशन मे कार्मिकों का भविष्य सुरक्षित है। बी बी टी सी वेलफेयर के अध्यक्ष राम मूरत यादव ने कहा एनपीएस एवं निजीकरण देश के शिक्षक एवं कर्मचारियों के भविष्य की सुरक्षा के लिए अभिशाप है जिसका विरोध अटेवा के साथ अंत तक रहेगा। जिला संयोजक चंदन सिंह ने कहा की पुरानी पेंशन बहाली के लिए अटेवा का संघर्ष एक दिन अवश्य रंग लाएगा क्योंकि अटेवा ने सभी विभागीय कार्मिकों को संगठित कर राष्टव्यापि संघर्ष किया है। शिक्षक एवं कर्मचारियों के यह संघर्ष पुरानी पेंशन बहाली की नींव का काम करेगा । जिला महामंत्री संदीप चौधरी ने कहा पुरानी पेंशन कार्मिकों की बुढ़ापे की लाठी है जिसके लिए अंत तक संघर्ष जारी रहेगा। नई पेंशन एवं निजीकरण देश की संवैधानिक व्यवस्था के खिलाफ है जिसका विरोध निरंतर रहेगा । TSCT के ज़िला संयोजक अरविन्द कुमार यादव ने निजीकरण पर जमकर हमला बोला।मदरसा बोर्ड के जिलाध्यक्ष मो इमरान ने कहा की नई पेंशन व्यवस्था में कोई दम नहीं और पुरानी पेंशन व्यवस्था को हम लोग लेकर ही बैठेंगे। पदयात्रा में मातृ शक्ति ने उत्साह के साथ पदयात्रा की। पदयात्रा में जिले के शिक्षको कर्मचारियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। संदीप यादव, डा राजेश उपाध्याय, टी एन यादव, रत्तिलाल निषाद, आर के गौतम, अखिलेश यादव, नंदलाल, अनिल सिंह, आनंद निषाद, विनोद यादव, डा श्याम सुंदर उपाध्याय , शशि राय, यादवेंद्र यादव , जगदीश यादव , विनोद यादव , नागेंद्र यादव अमर बहादुर, संजय चौधरी, प्रदीप सिंह, सुनील यादव आदि उपस्थित रहे।