पुरी में 24 घंटे उच्च गुणवत्ता सम्पन्न शुद्ध पेयजल की व्यवस्था टैप के जरिए की गई है।

0
57

भुवनेश्वर, पुरी/ जगन्नाथ धाम पुरी शहर के लोगों के साथ ही यहां आने वाले पर्यटकों को अब शुद्ध पेयजल के लिए ना ही परेशान होना पड़ेगा और ना ही पानी की बोतल खरीदनी होगी, क्योंकि जहां कहीं भी ठहरेंगे, उन्हें वहीं पर उच्च गुणवत्ता वाला शुद्ध पेयजल अब टैप के जरिये मिलेगा। इस तरह की व्यवस्था करने वाला पुरी शहर ना सिर्फ ओड़िशा एवं भारत का पहला शहर बना है बल्कि दुनिया के चुनिंदा शहरों में शामिल हो गया है, जहां के सभी नागरिक को 24 घंटे उच्च गुणवत्ता सम्पन्न शुद्ध पेयजल की व्यवस्था टैप के जरिए की गई है। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सोमवार को इस व्यवस्था का शुभारंभ किया है।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि केवल पुरी ही नहीं, बल्कि पूरा ओडिशा विकास की नई गाथा लिख रहा है। अब पुरी शहर के सभी लोगों को 24 घंटे शुद्ध पेयजल टैप के जरिए मिलेगा। पुरी वासियों को अपने घर में अब फिल्टर रखने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि टैप से ही उन्हें स्वच्छ एवं शुद्ध पेयजल मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह की योजना देश में पहली बार पुरी शहर में शुरू हुई है। लंदन, लस एंजेल्स तथा सिंगापुर जैसे शहरी क्षेत्र में पुरी शहर भी शामिल हो गया है। इस योजना के बाद पुरी में पर्यटकों को और पानी का बोतल लेकर नहीं घूमना होगा। शहर के प्रत्येक स्थान पर पानी टैप की व्यवस्था की गयी है।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मिशन शक्ति की महिलाओं को भी अपनी शुभकामना दी है। जय जगन्नाथ के उद्घोष के साथ अपना उद्भोधन शुरू करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मिशन शक्ति की महिलाएं जल साथी बनी हैं। महाप्रभु के आशीर्वाद से जगन्नाथ धाम में एक बाद एक योजना शुरू की जा रही है। कार्यक्रम में प्रारंभिक सूचना फाइव टी सचिव वी.के.पांडियन ने दिया। नगर विकास विभाग के मंत्री प्रताप जेना ने विस्तृत रूप से कार्यक्रम के संदर्भ में विवरण रखा। पुरी को विश्व स्तरीय शहर बनाने के लिए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने जो सपना देखा है, उस सपने को साकार करने की दिशा में ड्रिंक फ्राम टैप मिशन एक युगान्तकारी पहल है।
इससे पुरी शहर के ढाई लाख लोगों को 24 घंटे टैप के जरिए शुद्ध पेयजल मिलेगा। इस योजना से भारत की आध्यात्मिक राजधानी में आने वाले सालाना 2 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। इसके साथ ही प्रत्येक परिवार को शुद्ध पेयजल मिलेगा। ऐसे में प्रत्येक परिवार को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने वाले दुनिया के प्रमुख शहरों में पुरी शहर भी शामिल हो गया है। इस तरह की सफलता हासिल करने वाले पुरी शहर देश का पहला शहर है। इस योजना के शुरू हो जाने से पुरी शहर में सालाना 4 लाख मैट्रिक टन प्लास्टिक वर्ज्य वस्तु में कमी आएगी। राज्य सरकार के फाइव टी योजना के अधिन 16 शहर के 40 लाख लोगों के लिए ड्रिंक फ्राम टैप योजना में शुद्ध पेयजल मुहैया कराने हेतु कार्य शुरू हो गया है।