बच्चों के लिए पोषाहार तैयार करने वाले महिला स्वयंसहायता समूहों को खराब गेहूं की आपूर्ति की गई है। इसे वापस लेने के लिए विभाग का ध्यान आकृष्ट किया गया है।

0
56

राउरकेला : बच्चों के लिए पोषाहार तैयार करने वाले महिला स्वयंसहायता समूहों को खराब गेहूं की आपूर्ति की गई है। इसे वापस लेने के लिए विभाग का ध्यान आकृष्ट किया गया है। घटिया पोषाहार तैयार करने के आरोप में काली सूची में डाले गए एसएचजी को फिर से इसका काम सौंपे जाने से भी असंतोष देखा जा रहा है।
आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों को पौष्टिक आहार तैयार करने का दायित्व महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया गया है। इसके द्वारा दलिया, सत्तू, लड्डू एवं अन्य सामग्री तैयार कर बच्चों को दी जाती हैं। जिला प्रशासन की ओर से घटिया स्तर का सामान आपूर्ति करने की शिकायत मिलने के बाद कुछ समूहों को काली सूची में डाल दिया गया था। विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत में उन्हें फिर से यह काम सौंपा जा रहा है। इस तरह की शिकायत सेक्टर-5 गोलघर स्थित मां तारिणी एसएचजी के खिलाफ मिली है। आरोप लगने के बाद उसे काली सूची में रखे जाने की शिकायत जयंती राय, गीतांजली पंडा, बसंती धल आदि ने की है। इसकी जांच किए बगैर फिर से उस समूह को काम दिया गया है। उपजिलपाल से इसकी शिकायत कर शीघ्र कार्रवाई करने की मांग उन्होंने की है। वहीं, महिला समूहों को पोषाहार तैयार करने के लिए सड़ा हुआ गेहूं भेजा गया है। हर बोरे से पांच से छह किलो कचरा निकल रहा है। इस संबंध में गेहूं आपूर्ति करने वाले अधिकारी से शिकायत करने पर उन्होंने गलती से वह गेहूं भेजे जाने तथा शीघ्र ही उसे वापस लाकर दूसरा गेहूं देने की बात कही है।