बच्चों में कुपोषण से बचाव के लिए एल्बेंडाजोल की खुराक देना जरूरी : अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार

0
17

सिरसा, 20 मई।-((सतीश बंसल )
अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ बच्चे का स्वस्थ होना बेहद जरुरी है, क्योंकि स्वस्थ नागरिक ही स्वस्थ समाज व सशक्त राष्ट्र का निर्माण कर सकते हैं। बच्चों को कुपोषण से बचाने तथा उन्हें स्वास्थ्य के बारे में जागरूक करने के लिए सभी विभाग आपसी तालमेल के साथ राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस कार्यक्रम में पूर्ण सहयोग करें। कार्यक्रम के माध्यम से 23 से 26 मई तक विशेष अभियान के तहत एक से 19 वर्ष के बच्चों को आशा वर्कर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व एएनएम (ट्रिपल-ए) द्वारा घर-घर जाकर एलबेंडाजोल की गोली खिलाई जानी है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से कार्य करें और शत प्रतिशत बच्चों को दवा खिलाना सुनिश्चित करें।
यह बात अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार ने शुक्रवार को कृमि मुक्ति दिवस के तहत स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए कही। यह अभियान स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल कल्याण विभाग तथा शिक्षा विभाग द्वारा संयुक्त रूप से इस कार्यक्रम किया जाता है। बैठक में एसडीएम ऐलनाबाद वेद प्रकाश, एसडीएम डबवाली राजेश पुनिया, एसडीएम कालांवाली उदय सिंह, सिविल सर्जन डा. मनीष बंसल, उप सिविल सर्जन डा. बुधराम, जिला शिक्षा अधिकारी संत कुमार, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी आत्म प्रकाश, डा. शमी जिंदल, डा. भारत भूषण, कमल कक्कड़ सहित अन्य अधिकारी व स्कूलों के मुखिया मौजूद थे।
अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि विशेष अभियान के तहत जिला में चार लाख 34 हजार 29 लाभार्थियों को एल्बेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि कृमि मुक्ति दिवस मनाए जाने का मुख्य उद्ेश्य बच्चों में पेट के कीड़ों की बीमारी से मुक्त करना है।
सिविल सर्जन डॉ मनीष बंसल ने बताया कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम की सफलता के लिए 11 टीमों का गठन किया गया है जिसमें दो डाक्टर, एक फार्मासिस्ट शामिल रहेंगे। इसके अलावा हर टीम की निगरानी के लिए एसएमओ की डï्यूटी लगाई गई है। 23 से 26 मई तक जिले के एक साल से 19 साल तक के सभी बच्चों को व कार्यक्रम के अंतर्गत 20 साल से 24 साल तक महिलाओं को आशा वर्कर-आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व एएनएम बहन जी (ट्रिपल-ए) द्वारा एल्बेंडाजोल की गोलियां घर घर जाकर खिलाई जाएंगी। जो बच्चे व महिलाएं दवा लेने से वंचित रह जाएंगे उन्हें 27 से 29 मई को मॉप-अप दिवस के दौरान ये गोलियां खिलाई जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी का स्वस्थ होना जरूरी है । उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों व स्कूल मुखियाओं से आह्वान किया कि कोरोना बचाव के लिए वैक्सीनेशन की मुहिम में अपना योगदान दें और नागरिकों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित भी करें। स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैक्सीनेशन के शत प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विशेष कैंपों का भी आयोजन किया जा रहा है।