बरही अनुमंडल मेें मनोज यादव का नामांकन ऐतिहासिक रहा: राजन क्लेमेंट साह

0
116

हजारीबाग,22 नवम्बर। कांग्रेस के विधायक व बीजेपी के प्रत्याशी मनोज यादव ने बरही विधानसभा क्षेत्र से नामांकन जारी कर दिया है। बता दें कि मनोज कुमार यादव चार बार विधायक निर्वाचित हो चुके हैं। उन्होंने अब के कांग्रेस  प्रत्याशी  उमाशंकर अकेला को वर्ष 2014 में 7085 मतों से हराया था। उस समय बीजेपी में  उमाशंकर अकेला थे।अब दोनों ने पाला बदल रखा है।बीजेपी के प्रत्याशी मनोज यादव और कांग्रेस  प्रत्याशी  उमाशंकर अकेला हैं।

बता दें कि बरही में यादव, दलित, मुस्लिम और पिछड़े वर्ग के वोटर अधिक हैं। यहां की राजनीति में मनोज यादव व उमाशंकर अकेला करीब दो दशक से राजनीति के केंद्र में रहे हैं। 1995 में मनोज कुमार यादव भले ही पहली बार बरही में विधायक निर्वाचित हुए लेकिन, उस समय उमाशंकर अकेला ने निर्दलीय चुनाव लड़ कर उन्हें खुली चुनौती दी थी। 1995 से 2009 तक मनोज यादव चुनाव जीतते रहे। 2009 में उमाशंकर अकेला ने भाजपा उम्मीदवार बनकर उन्हें शिकस्त दी थी।

22 नवम्बर 2019 को बरही अनुमंडल मेें  मनोज  यादव का नामांकन ऐतिहासिक रहा

तीसरे चरण में होने वाले मतदान को लेकर अनुमंडल कार्यालय बरही में नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ है। आज  शुक्रवार को बरही विधानसभा के प्रत्याशी बनने के लिए बरही अनुमंडल में मनोज यादव ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। बरही अनुमंडल मेें  मनोज  यादव का नामांकन ऐतिहासिक  रहा है यह कथन प्रवासी प्रभारी राजन क्लेमेंट साह का है।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास , कोडरमा  लोकसभा की  सांसद  श्रीमती अन्नपूर्णा , सांसद जयंत  सिन्हा आदि  की उपस्थिति में मनोज  यादव का नामांकन ऐतिहासिक रहा। भारी संख्या में उपस्थित जनसैलाब मे जोश भर दिया।वहीं मुख्यमंत्री भी उत्साहित दिखे और दूरदराज से ग्रामीण  क्षेत्र  से आये  लोगो  को धन्यवाद  दिया।आज  के  जनसैलाब ने साबित  कर  दिया की बरही  विधानसभा मे  ” कोई  नहीं  है  टक्कर में” , बरही मे विकास  पुरूष  श्री  मनोज  भैया  का  एकतरफा  जीत  होगी , बरही विधानसभा मे जिस  तरह  से एक- एक कार्यकर्ता एकजुट है और ज़मीन  पर  काम  कर  रहे  हैं , सबका  साथ  सबका  विकास  होगा , आम  लोगो  से मजबूत  संवाद  स्थापित कर विकास  की धारा  और  तेज किया  जायेगा ,मानवीय मूल्यों के आधार पर नव संस्कृति के   निर्माण  किया  जायेगा ” तथा  आर्थिक एवं शैक्षणिक रुप  से और मजबूत किया  जायेगा।