बिहार के कैमूर में चैनपुर प्रखंड अंतर्गत हजरत सइयदना पीर उसमान साह रहमतुल्ला अल्लाह के मजार पीड़ितों के लिए सहायक साबित हो रहा है

0
491
(कैमूर ब्यूरो चीफ) आर एन सिंह
 बिहार के कैमूर जिला अंतर्गत चैनपुर प्रखंड के मदुरना पहाड़ी के निकट हजरत सइयदना पीर उस्मान साह रहमतुला अल्लाह के मजार पर अंधविश्वास से भटके लोगों ,तथा अन्य बीमारियों से ग्रसित महिला पुरुष अपनी आत्मा की शांति के लिए बाबा के मजार पर  पुष्प एवं चादर अगरबत्ती चढ़ा माथा‌ टेकते है
 जिससे लोगों की भलाई दुख दर्द पीड़ा सब खत्म हो जाता है
और उनकी आत्मा की शांति मिल जाती हैं
इस मजार पर आने वाले पीड़ित लोगों की सुरक्षा एक  कमेटी के माध्यम से किया जाता है तथा अन्य सुविधा भी मुहैया कराइ जाती है। मजार कीदेख रेख बगल के ग्रामीण मुमताज खान के नेतृत्व में  कमेटी बनाकर किया जाता है
इस मजार पर काफी संख्या में उत्तर प्रदेश, बिहार ,झारखंड ,से पीड़ित लोग आते हैं लोगों के सहायता एवं सुरक्षा  कमेटी के माध्यम से मिलती है कमेटी में शामिल हाजीफरून द्दीन खान पूर्व बीडीसी ,अब्दुल कलाम ,दुलन खान, सना उल्ला खान ,आदि कमेटी के मेंबरों द्वारा श्रद्धालुओं की सुरक्षा की जाती है बाबा के मजार प्राकृतिक छटा बिखेरता है जहां पर बाबा के मजार से पूरा दिशा में कोहिरा नदी है। पश्चिम में मदुरना का पहाड़ी है ।दक्षिण में महावीर मंदिर एवं लाल शहीर का मजार है तथा नदी उस पार बख्तियार खा का रउजा है
 यह स्थान जिला में अनुपम छटा बिखेर ता है जहां पर पीडीत महिला पुरुष के लिए सहायक साबित होता है  पीड़ित बाबा के मजार में जाकर अपनी दुख दर्द पीड़ा को भूल जाते है और उनकी आत्मा की शांति मिल जाती है सैकड़ों की तादात में पीड़ित इस मजार पर माथा टेकने आते हैं  एक खास भेंटवार्ता में युक्त जानकारियां मिली बाबा के मजार पर उपस्थित पिड़ीत दर्शन करते लोग