बिहार पुलिस का सिपाही निकला करोड़पति, पटना से लेकर आरा-मुजफ्फरपुर तक बना रखी थी संपत्ति

0
61

पटना; बिहार पुलिस का एक सिपाही ज्यादा से ज्यादा महीने में कितना कमा सकता है। अंदाजा लगाइए, लेकिन आपका सारा अंदाजा एक सिपाही के सामने फेल हो जाएगा। ये सिपाही करोड़पति है। लेकिन अब EOU यानि आर्थिक अपराध इकाई इस भ्रष्ट सिपाही के 9 ठिकानों पर छापेमारी में जुटी है। ये छापेमारी बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष नरेंद्र कुमार धीरज के ठिकानों पर हो रही है।
सिपाही नंबर- 2187 निकला करोड़पति
EOU ने जानकारी दी है कि पटना जिला पुलिस बल के भ्रष्ट सिपाही नरेंद्र कुमार धीरज ने अपने पद का दुरुपयोग कर खुद और अपने घरवालों के नाम पर करोड़ों की संपत्ति बनाई है। ये इसके लोकसेवक अवधि में मिली तनख्वाह से कहीं ज्यादा है। इस केस में पहले सत्यापन के बाद आर्थिक अपराध इकाई ने केस दर्ज किया । इसके बाद 9 स्पेशल टीम बनाई गई और मंगलवार की सुबह-सुबह सिपाही धीरज के सभी 9 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी शुरू कर दी गई। जिन जगहों पर छापेमारी की गई है उनमें पटना के महावीर कॉलोनी बेऊर स्थित धीरज का आवास, भोजपुर के सहार थाना क्षेत्र के मुजफ्फरपुर गांव में पैतृक आवास, अरवल में अरोमा होटल के सामने अवस्थित मकान जो भाई का है। वहीं आरा शहर में भाई सुरेंद्र सिंह के कृष्णा नगर स्थित चार मंजिला मकान और दूसरा 5 मंजिला मकान। एक और भाई विजेंद्र कुमार विमल के आरा शहर स्थित कृष्णा नगर स्थित पांच मंजिला मकान, एक और भाई श्याम बिहारी सिंह का आरा स्थित मॉल आवासीय मकान, भतीजा धर्मेंद्र कुमार का आरा में आशुतोष ट्रेडर्स नाम की दुकान, एक और भाई सुरेंद्र कुमार सिंह के नारायणपुर आरा अवस्थित छड़ सीमेंट की दुकान एवं आवास शामिल है।