बेंगलुरु कर्नाटक:- ईश्वरप्पा ने सोमवार को कहा कि कोरोना के प्रदेश में बढ़ते मामलों को देखते हुए और विशेषज्ञों तथा अधिकारियों से चर्चा के बाद हमने फैसला किया है

0
84

बेंगलुरु कर्नाटक में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पंचायत चुनावों को स्थगित करने का फैसला राज्य सरकार की ओर से लिया गया है। प्रदेश सरकार के मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने सोमवार को यह ऐलान किया। उन्होंने बताया कि अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ मीटिंग कर यह तय किया गया है कि अभी जिला पंचायत और तालुका पंचायत के चुनाव को स्थगित किया जाएगा। सरकार जिलों तथा तालुकाओं में एडमिनिस्ट्रेटर्स को नियुक्त करने पर भी विचार कर रही है।
गौरतलब है कि कर्नाटक में पिछले साल मई-जून में ही पंचायत चुनावों की तारीख निर्धारित की गई थी लेकिन कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से इन्हें टाल दिया गया था। इसके बाद राज्य सरकार ने गावों और जिलों में प्रशासक तैनात कर दिए थे। इस साल पिछले महीने ही कर्नाटक सरकार ने बताया था कि पंचायत चुनावों को मई के अंत तक करा लिया जाएगा लेकिन बीते 10-15 दिनों में कोरोना को लेकर बदली परिस्थिति ने एक बार फिर सरकार को चुनाव स्थगित करने का फैसला लेने पर मजबूर कर दिया है।
केएस ईश्वरप्पा ने दी जानकारी
कर्नाटक सरकार के मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने सोमवार को कहा कि कोरोना के प्रदेश में बढ़ते मामलों को देखते हुए और विशेषज्ञों तथा अधिकारियों से चर्चा के बाद हमने फैसला किया है कि जिला पंचायत और तालुका पंचायत के चुनाव स्थगित कर दिए जाएं। हम जिला और तालुक पंचायतों में प्रशासक तैनात करने पर भी विचार कर रहे हैं। बता दें कि कर्नाटक में इस साल परिसीमन के बाद 1,190 जिला पंचायत और 3,273 तालुक पंचायत की सीटों पर चुनाव कराए जाने थे। अगले एक-दो हफ्ते में चुनाव आयोग क्षेत्रवार आरक्षण की लिस्ट जारी करने वाला था।
कोरोना के बढ़ते मामले
आयोग के मौजूदा शेड्यूल के हिसाब से सब कुछ होता तो इस साल मई के अंत तक प्रदेश में पंचायत चुनाव करा लिए जाते और जून में नए प्रतिनिधियों को कामकाज सौंप दिया जाता। हालांकि, कोरोना के गांव-गांव में बढ़ते मामलों को देखते हुए अब चुनाव स्थगित कर दिया गया है। कर्नाटक में कोरोना के 12 लाख से ज्यादा मामले मामले अब तक सामने आए हैं। फिलहाल, प्रदेश में 2 हजार 334 ऐक्टिव केसेज हैं। प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है।