बेंगलूरु, गांधीनगर तेरापंथ सभा भवन में प्रवासित साध्वी अणिमाश्री की सहवर्ति साध्वी मैत्रीप्रभा के 100 दिनों की तप आराधना लघु सर्वतो भद्र तप संपन्न हुआ

0
47

बेंगलूरु, गांधीनगर तेरापंथ सभा भवन में प्रवासित साध्वी अणिमाश्री की सहवर्ति साध्वी मैत्रीप्रभा के 100 दिनों की तप आराधना लघु सर्वतो भद्र तप संपन्न हुआ। रविवार सुबह 9 बजे अभिग्रह पूर्ण कर साध्वी ने पारणा किया। साध्वी कंचन प्रभा,साध्वी लावण्याश्री, साध्वी मंगलप्रज्ञा, साध्वी उज्जवलप्रभा की सहवर्तनी दो साध्वियों सहित 21 साध्वियों की सहभागिता रही। साध्वी कंचनप्रभा ने तपस्विनी साध्वी को मंगल आशीर्वाद प्रदान करते हुए तप पथ पर आगे बढऩे की कामना की।
साध्वी लावण्याश्री ने कहा यह दुर्लभ अवसर भाग्यशाली को मिलता है। साध्वी मंगलप्रज्ञा ने साध्वी मैत्रीप्रभा के प्रति अपनी भावना व्यक्त करते हुए कहा दृढ़ता के साथ उन्होंने तप की आराधना की है आगे भी इससे बड़ा तप करके इतिहास का सृजन करें। साध्वी सुधाप्रभा ने कहा हमें आज गौरव की अनुभूति हो रही है। मुंबई से कल्याण मित्र परिवार के सदस्य कैलाश गोयल ने साध्वी वृंद के दर्शन किए। साध्वी मैत्रीप्रभा ने कहा गुरु भक्ति से सब काम सिद्ध होता है। साध्वी अणिमाश्री ने कहा हम सहवर्तनी साध्वियों को ज्ञान, तप आदि क्षेत्र में पूर्ण मनोयोग के साथ आगे बढ़ा रहे हैं। साध्वी अणिमाश्री ने खुशी जाहिर करते हुए कहा यह पावन प्रसंग हम सभी में प्रेरणा बनने वाला है। उल्लेखनीय है कि यह तप करने वाली तेरापंथ धर्मसंघ में यह दूसरी साध्वी हैं। इससे पहले दीर्घ तपस्विनी साध्वी पन्ना ने यह तप किया था। तप अनुमोदना में राजाजीनगर, गांधीनगर,विजयनगर,शांतिनगर हनुमंत नगर और यशवंतपुर क्षेत्रों के श्रावक समाज ने लगभग 700 उपवास की भेंट की। श्रावक-श्राविकाओं ने पचरंगी तप की आराधना की।(UNA)