बैतूल जिले की मुलताई को मिली ऐतिहासिक सौगात

0
102
मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार के द्वारा आज प्रस्तुत किये गये पहले बजट में बैतूल जिले की मुलताई विधानसभा क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या – पेयजल संकट के निराकरण हेतु घोघरी एवं वर्धा समूह पेयजल प्रदाय योजनाओं लागत रूपये 371.26 करोड़ को बजट में सम्मिलित किया गया। क्षेत्रीय लोकप्रिय विधायक एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, मंत्री, श्री सुखदेव पांसे के द्वारा मंत्री बनने के उपरांत अपने क्षेत्र की पेयजल की विकराल समस्या के निराकरण हेतु लगातार प्रयास किये गये है, जिसका सुखद परिणामस्वरूप बैतूल जिले  एवं मुलताई विधानसभा क्षेत्र को यह सौगात प्राप्त हुई है। श्री सुखदेव पांसे के द्वारा मंत्री बनने के उपरांत सर्वप्रथम घोघरी एवं वर्धा डेम से पूरे मुलताई विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक गांव के प्रत्येक घर में स्वच्छ, शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने हेतु योजनाओं की डी.पी.आर.का निर्माण कराया गया हैं एवं यशस्वी माननीय मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी से उक्त दोनों योजनाओं की स्वीकृति हेतु अनुरोध किया गया था। प्रदेश के यशस्वी माननीय मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी के द्वारा श्री सुखदेव पांसे की उक्त दोनों मांगों को स्वीकार करते हुये अपने प्रथम बजट में उक्त दोनों योजनाओं को सम्मिलित कर बैतूल जिले की मुलताई विधानसभा क्षेत्र की जनता को अभूतपूर्व सौगात प्रदान की गई है।
उल्लेखनीय है कि विगत 15 वर्षों से प्रदेश में काबिज भाजपा सरकार द्वारा बैतूल जिले की इस सबसे विकराल पेयजल समस्या के निराकरण हेतु कोई भी ठोस प्रयास नहीं किया गया हैं, जिसके कारण जिले की जनता भीषण पेयजल संकट से प्रत्येक वर्ष जूझती रही है। श्री सुखदेव पांसे, मंत्री, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी के द्वारा अपने विधानसभा क्षेत्र मुलताई के निवासियों को मिली इस अभूतपूर्व सौगात के लिये क्षेत्र की जनता को बधाई एवं यशस्वी माननीय मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी को कोटि-कोटि धन्यवाद दिया है। श्री सुखदेव पांसे के द्वारा अवगत कराया गया है कि प्रदेश सरकार के द्वारा देश में सर्वप्रथम मध्यप्रदेश में पेयजल का अधिकार लागू किया जा रहा है। इसके अंतर्गत आज प्रस्तुत किये गये बजट में राशि 1000  करोड़ का प्रावधान रखा गया है एवं उनका प्रयास रहेगा कि  जिले एवं प्रदेश की जनता को विकराल पेयजल संकट की समस्या से स्थायी निजात दिलायेंगे।