कैमूर के 10 लाख 92 हजार 871 मतदाता रविवार को वोट की बरसात कर अपनी क्षमता का प्रदर्शन करेंगे। निर्वाचन आयोग ने जिले के वोटरों से मतदान प्रतिशत बढ़ाने की उम्मीद बांधी है। ऐसे में कैमूरवासियों को आयोग की उम्मीद पर खरा उतरने का अच्छा मौका मिला है। पहली बार मतदान करनेवाले युवा मतदाताओं नागेश कुमार, पिं्रस कुमार व राजेंद्र सिंह कहते हैं कि वह अपनी उर्जा का उपयोग अपने घर के सभी मतदाता सदस्यों को बूथ पर लाकर मतदान कराने में करेंगे। वर्ष 2014 में 10 अप्रैल को मतदान हुआ था। तब सासाराम संसदीय क्षेत्र में 1607747 मतदाता थे। इनमें पुरुष वोटर 53.45 प्रतिशत और महिला 46.54 प्रतिशत थीं। यानी सेक्स रेश्यो 871 था। इस चुनाव में कुल 847608 वोट पड़े थे। मतदान के लिए 1732 बूथ बनाए गए थे, जहां वोटर टर्नआउट 52.72 प्रतिशत रहा था। लेकिन, इस बार के चुनाव में सासाराम लोकसभा क्षेत्र में 17 लाख 71 हजार 935 मतदाता और 1927 मतदान केंद्र हैं। यानी इस बार के चुनाव में 1 लाख 64 हजार 188 ज्यादा मतदाता वोट देंगे। प्रशासन ने मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए न सिर्फ अधिकारियों, कर्मियों व कलाकारों को वोटरों को जागरूक करने में लगाया था, बल्कि आम मतदाताओं ने भी मतदाता जागरूकता कार्यक्रम में अपनी सहभागिता निभाई थी। इस दौरान उन्होंने शत-प्रतिशत मतदान करने और इसके लिए दूसरों को भी प्रेरित करने का संकल्प लिया था। अब वह समय आ गया है कि मतदाता अपने संकल्प को पूरा कर वोट प्रतिशत को बढ़ाएं। जिला निर्वाची पदाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी ने कहा कि वोटरों को उत्साहित करने के लिए कई नए प्रयोग किए जा रहे हैं।