भभुंआ

0
1

भभुंआ – एजेंसी के खाते में मुखिया दो दिनों में डाल दें पैसा:-

खरीफ फसल की सिंचाई को लेकर सरकार एवं जिला प्रशासन दोनों गंभीर है। नलकूप विभाग के प्रधान सचिव केके पाठक द्वारा जारी निर्देश के आलोक में डीडीसी कृष्णा प्रसाद गुप्ता ने बुधवार को कलेक्ट्रेट के सभागार भवन में मुखियों व विभाग के अफसरों के साथ बैठक की। इस दौरान यह बताया गया कि जिले में कुल 346 राजकीय नलकूप हैं, जिसमें विभिन्न कारणों से 85 नलकूप वर्षों से बंद पड़े हैं। बंद 85 नलकूपों का जीर्णोंद्धार करना है।

प्रथम फेज में 15 पंचायतों में जीर्णोंद्धार कार्य शुरु कराने के लिए मुखियों के खाते में पांच-पांच लाख रुपये आवंटित किया गया है, जिसमें चार मुखियों द्वारा एजेंसी को पैसा दे दिया गया है और तीन में जीर्णोंद्धार कार्य शुरु हो गया है। जबकि आठ मुखियों द्वारा अभीतक कार्यकारी एजेंसी को पैसा विमुक्त नहीं किया गया है। डीडीसी ने संबंधित मुखियों को दो दिनों में एजेंसी के खाते में पैसा भेजने को कहा। दूसरे फेज में 51 पंचायतों में नलकूप निर्माण के लिए पैसे का आवंटन किया जाना है। सरकार ने नलकूप विभाग को पैसा भेज दिया है।

डीडीसी ने एक सप्ताह के अंदर विभाग को शेष मुखियों के खाते में पांच-पांच लाख रुपये भेजने का निर्देश कार्यपालक अभियंता को दिया। कई पंचायतों के मुखियों ने डीडीसी से कहा कि मामूली गड़बड़ी के कारण दर्जनभर नलकूप बंद पड़े हैं। इस पर उन्होंने विभाग के जेई को एक सप्ताह में दुरुस्त कराने को कहा, ताकि खरीफ फसल की खेती में सिंचाई की समस्या उत्पन्न नहीं हो सके।

भभुंआ संवाददाता-सिरबिट गांव के किसान के घर भीषण चोरी

थाना क्षेत्र के सिरबिट गांव में मंगलवार की देर रात चोरों ने एक किसान के घर में भीषण चोरी की। गृहस्वामी घुरफेकन सिंह उर्फ मुन्ना सिंह का दावा है कि चोरों ने उनके घर से आठ लाख रुपयों के आभूषण व 40 हजार रुपए नगद की चोरी की है। सूचना पर पहुंची चैनपुर थाने की पुलिस ने बुधवार को घटना की जांच की। घटना की जानकारी किसान को तब हुई जब लगभग 3:00 बजे अहले सुबह उनकी नींद खुली।

उन्होंने बताया कि वह मवेशियों को चारा खिलाने के लिए घर का दरवाजा खोलकर बाहर जाना चाह रहे थे। लेकिन, बाहर से दरवाजा बंद मिला। आवाज लगाने पर पास के लोगों ने उनका दरवाजा खोला। चोर घटना को अंजाम देने के बाद बाहर से दरवाजा को बंद कर दिया था। चोरों ने इस घटना को तब अंजाम दिया जब परिवार के सभी सदस्य छत पर सोए हुए थे। लेकिन, उन्हें चोरों द्वारा घटना को अंजाम देने की भनक तक नहीं लगी।

शोरगुल पर परिवार के अन्य सदस्य जागे तो देखा उनके कमरों के दरवाजों के ताले टूटे पड़े हैं ओर सामान बिखरे हुए थे। घर से बक्शा गायब था। गोदरेज का ताला भी टूटा हुआ था। लोगों ने आसपास में खोजबीन शुरू की। लेकिन, देर तक घटना की जानकारी किसी को नहीं मिल सकी। बुधवार की सुबह गांव के पश्चिम तरफ बधार में उनके घर से करीब आधा किलोमीटर की दूरी पर चार बैग फेंका हुआ देखा गया। लेकिन, ग्रामीणों ने देखा तो उसमें कुछ भी नहीं था। इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी चैनपुर पुलिस को दे दी गई है।

भभुआ संवाददाता-भूमि विवाद में चली गोली से पांच लोग जख्मी

बुधवार को 11 बजे अचानक गोलियां चलने लगी। गोली की आवाज सुन बस बड़ाव व उसके आसपास के क्षेत्र में भगदड़ मच गई। दुकानों के शटर धड़ाधड़ गिरने लगे। पास में स्थित दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक में ग्राहकों की कान में भी गोली की आवाज गई। क्या हो रहा है यह देखने के लिए वह बैंक भवन की रेलिंग पर पहुंच गए। फिर क्या था नीचे से चली गोली उनके शरीर में जा धंसी। दो महिला सहित पांच लोग हताहत हो गए। किसी को कमर में तो किसी के सीने में गोली लगी। दर्जनों चक्र गोलियां चलने की बात कही जा रही है।

एसपी ने बताया कि घायलों में भभुआ शहर के वार्ड 25 निवासी पिंटू यादव की कमर में गोली लगी है। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसे गंभीर हालत में रेफर कर दिया। परिजन उसके इलाज के लिए बनारस के ट्रामा सेंटर लेकर चले गए। अन्य घायलों में शहर के वार्ड 25 के प्रेम सेठ, सोनहन थाना क्षेत्र के अमाढ़ी गांव की सरिता देवी, भगवानपुर थाना क्षेत्र के ओर्रा गांव की धाना देवी, उसका भतीजा विष्णु दयाल यादव शामिल हैं। इनके शरीर में छर्रा फंसा है। चार लोगों का इलाज सदर अस्पताल में कराया जा रहा है। घटना के बाद अस्पताल पहुंचे एसपी दिलनवाज अहमद व एसडीपीओ अजय प्रसाद ने घटना की जांच की।

घटना के जद्द में क्या है कारण

दरअसल, भूमि विवाद में पूरब बस स्टैंड के पास स्थित दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के पास रहनेवाले दो भाइयों के बीच भूमि को लेकर विवाद चल रहा था। बुधवार को दोनों पक्षों के बीच विवाद गहरा गया और दोनों ओर से गोलियां चलने लगीं। शंकर यादव व जयराम यादव के परिवार की बीच भूमि विवाद चल रहा है। हालांकि इस मुद्दे पर पुलिस बहुत कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं है। किसी पक्ष के द्वारा थाने में आवेदन भी नहीं दिया गया है।

भागना चाह रहा था पर धंस गया छर्रा

गोलीबारी की घटना में घायल प्रेम सेठ ने बताया कि वह पासबुक अपडेट कराने बैंक आया था। काम पूरा होने पर जब बाहर निकला तो देखा की गोली चल रही है और लोग इधर-उधर भाग रहे हैं। वह भी भागना चाह ही रहे थे कि उसके पेट में गोली का छर्रा धंस गया। घायल सरिता ने कहा कि वह जीविका का पैसा निकालने के लिए बैंक आई थी। गोली की आवाज सुनकर बाहर रेलिंग पर निकली तबतक गोली उसके पेट में लग गई। धाना देवी के सिर तथा विष्णुदयाल के पैर व सीने के पास गोली लगी है।

खून से लथपथ पिंटू को देख बेहोश हुई बहन

अस्पताल के ड्रेसिंग रूम के बेड पर इलाज करा रहे खून से लथपथ पिंटू को देखते ही उसकी बहन गश्त खाकर गिर पड़ी। महिलाओं ने उसके मुंह पर पानी का छींटा मारकर उसे होश में ला रही थीं। लेकिन, वह बार-बार अचेत हो जा रही थी। घटना की सूचना पर पिंटू की बहन व उसकी मां भी अस्पताल आई थीं। पिंटू को देख वह दहाड़ मारकर रोने लगी। उन्हें किसी तरह ड्रेसिंग रूम से बाहर निकाला गया।

दो भाइयों के बीच भूमि विवाद में गोलियां चली हैं। एक घायल को रेफर किया गया है। शेष का सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। गोलीबारी की घटना को अंजाम देनेवालों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।