भभुंआ

0
2

भभुंआ संवाददाता-महिलाओं को रोजगार मुहैया कराएगी नगर परिषद

नगर परिषद महिलाओं को स्वावलंबी बनाने की रोजगार मुहैया कराएगी। महिलाएं सिलाई, कढ़ाई, बुनाई, ब्यूटीशियन, अगरबत्ती बनाने, अचार, पापड़, टेलिवियर, माला बनाकर आत्मनिर्भर बनेंगी। इस रोजगार के लिए उन्हें नगर परिषद बैंकों से ऋण दिलवाएगी। इसको लेकर बुधवार को स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के साथ नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी अनुभूति श्रीवास्तव ने बैठक की और उनको रोजगार खड़ा करने की दिशा में नप द्वारा किए गए प्रयास के बारे में जानकारी दी। शहर में संचालित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को नगर परिषद बैंकों से ऋण दिलवाकर उन्हें रोजगार खड़ा करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

उन्होंने महिलाओं से भी उनकी राय जानी। महिलाओं ने ऋण लेकर रोजगार खड़ा करने की बात को स्वीकार तो किया लेकिन उन्होंने यह सवाल खड़ा किया कि मेरे तैयार उत्पादों का बाजार कहां है, जहां वह तैयार उत्पाद को बेचेंगी। बैठक में नगर प्रबंधक इसराफिल अंसारी, नाजीर विनोद चौधरी, प्रधान लिपिक सुकुमार बनर्जी, आनंद कुमार, समूह की सीओ ममता कुमारी, सीआरपी शालू कुमारी, नीतू कुमारी, अनिता कुमारी के अलावा महिला समूहों की सचिव रोजिद्दन खातून, लाची देवी, पूनम देवी, गीता देवी, शांति कुंवर आदि थीं।

प्रदर्शनी के माध्यम से बाजारों में पहुंचेंगे उत्पाद

नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी ने समूह के उत्पादों को बाजार तक पहुंचाने की व्यवस्था करने का भी आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि महिलाओं के उत्पादों की प्रदर्शनी लगाकर उसे बाजार तक पहुंचाया जाएगा। यदि नगर विकास विभाग द्वारा पटना में भी प्रदर्शनी लगेगी तो वहां भभुआ के उत्पादों को शामिल कराया जाएगा। फिलहाल नगर परिषद क्षेत्र में 127 स्वयं सहायता समूह का संचालन महिलाओं द्वारा किया जा रहा है। नगर परिषद प्रति समूह को 10 हजार रुपए चक्रचालित राशि देती है, जिसके माध्यम से समूह की महिलाएं दो प्रतिशत ब्याज पर रुपया आपस में लेकर उससे अपना कारोबार का संचालन शुरू करती हैं।

महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए नगर परिषद ने पहल शुरू है। महिलाओं के स्वयं सहायता समूह को बैंकों से ऋण मुहैया कराया जाएगा। रोजगार कराकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाएगा।