भरी बारिश से तबाही पर सपा अध्यक्षा ने सरकार पर लगाए आरोप, स्थानीय निकाय साबित हुए नकारा

0
12
Akhilesh yadav (file photo)

UNA NEWS
UP BUREAU
Lucknow

समूचे उत्तर भारत में हुई बारिश ने जन-जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। वहीं उत्तर प्रदेश में राजधानी लखनऊ सहित विभिन्न शहरों में स्थिति विकट हो गई है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में तेज बारिश से जनजीवन बुरी तरह अस्तव्यस्त हो गया है। सरकारी दावों और स्थानीय निकायों के कामकाज की भी इससे पोल खुल गई है। राजधानी लखनऊ सहित कई जनपदों में मौतें हुई हैं। स्मार्टसिटी बनाने के नाम पर करोड़ो के वारे-न्यारे हो गए पर हालत हालत जस के तस हैं। बारिश के एक तेज झोंके में ही भाजपा सरकार की तमाम योजनाएं बह गईं।

उन्होने आरोप लगाया कि इन दिनों भारी बरसात होने की भविष्यवाणी पहले ही मौसम विभाग कर चुका है। पर इससे शासन-प्रशासन ने कोई सबक नहीं लिया। अधिकारी अनजान बने रहे। फलतः तमाम जगहों पर जलभराव से जनजीवन ठप्प हो गया। जल निकासी की व्यवस्था लचर होने, नालों की सफाई न होने से लोग दिक्कत में फंस गए। घरों तक में पानी भर गया। घर-सम्पत्ति का भारी नुकसान हुआ है। सड़के धंस गई है।

इस बरसात ने खेती-बाड़ी को बहुत नुकसान पहुंचाया है। फसलें पानी में डूब गई है। जगह-जगह पेड़ गिर गए हैं। स्कूल-कालेज और सरकारी दफ्तर बंद हो गए। ग्रामीण इलाकों में बिजली पिछले 24 घंटे से गुल है। कई इलाके झील में तब्दील हो गए। भाजपा सरकार की बदइंतजामी का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है।
सरकार को आड़ों हाथों लेते हुए अखिलेश यादव ने खा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार जनता और जनसमस्याओं के प्रति पूर्णतया उपेक्षा और संवेदनहीनता का रवैया अपनाये हुए है। मुख्यमंत्री जी सख्ती करने के तथाकथित निर्देश जारी करते रहते हैं पर अब उनके ही अधिकारी उनकी बातों पर ध्यान नहीं देते हैं। भाजपा के विधायक भी कहने लगे हैं कि मुख्यमंत्री कार्यालय से ही लूट चल रही है। जब चारों तरफ लूट-भ्रष्टाचार है तब जनता का क्या हाल है कोई पूछने वाला नहीं है।

खिलेश यादव ने राजधानी लखनऊ के दिलकुशा गार्डेन में बारिश के कारण मकान की दीवार गिरने से 9 लोगों की हुई मौत तथा उन्नाव में हादसे में 4 लोगों की हुई मौत पर गहरा शोक जताते हुए दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। अखिलेश यादव ने शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना जताते हुए सरकार से मृतक आश्रितों को पर्याप्त मुआवजा देने और घायलों की सुचारू चिकित्सा व्यवस्था किए जाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here