– भूजल में सुधार लाने के लिए वाटर सिक्योरिटी प्लान बना कर करें काम : एडीसी राहुल हुड्डा

0
10

एडीसी ने ऐलनाबाद व रानियां क्षेत्र में भूजल सुधार को लेकर ली अधिकारियों की बैठक

सिरसा, 24 नवबर।।( सतीश बांसल )
अतिरिक्त उपायुक्त राहुल हुड्डा ने बुधवार को स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में ऐलनाबाद व रानियां क्षेत्र में भूजल सुधार को लेकर केंद्रीय भूजल बोर्ड, सिंचाई विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में केंद्रीय भूजल बोर्ड (सीजीडब्ल्यूबी) के अधिकारियों ने जिला सिरसा में भूजल की गुणवत्ता एवं मात्रा को लेकर प्रेजेंटेशन के माध्यम से जानकारी दी।
अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि किसी भी कार्य को सही ढंग से पूरा करवाने में संबंधित विभागों के बीच में आपसी तालमेल का होना बहुत जरूरी है। भूजल में सुधार लाने के लिए सभी संभावित समाधान जैसे सूक्ष्म सिंचाई, फसल विविधिकरण, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, मल्चिंग आदि तकनीकों को अपनाना बहुत जरूरी है। इसके लिए किसानों में अधिक से अधिक जागरूकता लाई जाए। उन्होंने कहा कि केंद्रीय भूजल बोर्ड के डाटा के आधार पर अटल भूजल योजना के तहत वाटर सिक्योरिटी प्लान बनाया जाए। उन्होंने ऐलनाबाद व रानियां क्षेत्र में भूजल स्थिति सुधार को लेकर प्रत्येक गांव स्तर पर वॉटर सिक्योरिटी प्लान के तहत काम करने के निर्देश दिए। जल संरक्षण लोगों के सहयोग के बिना संभव नहीं है, इसलिए वॉटर सिक्योरिटी प्लॉन में ग्रामीणों का भी सहयोग लिया जाए।
अटल भूजल योजना से आईसी एक्सपर्ट आकाश बराल ने बताया कि राष्ट्रीय जलभृत प्रबंधन परियोजना (नक्विम) रिपोर्ट के आधार पर जिला सिरसा के लिए बेहतर वाटर सिक्योरिटी प्लान बनाया जा सकता है। जिला में 97.53 प्रतिशत जल सिंचाई कार्यों में उपयोग किया जाता है, 2.26 प्रतिशत जल घरेलू कार्यों के लिए तथा शहर 0.21 प्रतिशत औद्योगिक क्षेत्र में उपयोग किया जा रहा है। सीजीडब्ल्यूबी की रिपोर्ट के अनुसार सिरसा, रानियां, ऐलनाबाद, ओढां, नाथूसरी चौपटा व डबवाली क्षेत्र में भूजल संग्रहित पानी से अधिक मात्रा में पानी का उपयोग किया जा रहा है। रिपोर्ट के अनुसार उक्त क्षेत्रों में गिरता हुआ भू-जल स्तर की स्थिति चिंताजनक है।
बैठक में कार्यकारी अभियंता सिंचाई विभाग अजीत हुड्डïा, कार्यकारी अभियंता जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग आरएस मलिक, अटल भूजल योजना से आईसी एक्सपर्ट आकाश बराल, ग्राउंड वॉटर सैल सिरसा से विनोड, सैंट्रल ग्राउंड वाटर बोर्ड से सीनियर तकनीकी सहायक साकुब व सुनील कुमार मौजूद थे।