भोपाल,। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र उड़ीसा के उत्तरी क्षेत्र में पहुंचकर गहरा कम दाब का क्षेत्र बन गया है। इसके उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ने के संकेत हैं

0
205

भोपाल,। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र उड़ीसा के उत्तरी क्षेत्र में पहुंचकर गहरा कम दाब का क्षेत्र बन गया है। इसके उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ने के संकेत हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक यह सिस्टम गुरुवार सुबह छत्तीसगढ़ के पास पहुंच सकता है। इस सिस्टम के असर से गुरुवार से भोपाल सहित मध्य प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात का सिलसिला शुरू होने के आसार है। शहडोल में आसमान में घने काले बादल छाए हुए हैं। गुरुवार की सुबह हल्की बारिश हुई है और बुधवार की रात में भी रुक-रुक कर बारिश होती रही है। बाणसागर बांध का जलस्तर 341.07 मीटर गुरुवार की सुबह 8बजे रिकॉर्ड किया गया है। वहीं जिले की बारिश तकरीबन 760 मिलीमीटर औसत दर्ज की गई है। गुरुवार को जिले में झमाझम बारिश के आसार बन रहे हैं।
मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव के लिए बसपा ने जारी की आठ उम्मीदवारों की सूची
उधर, बुधवार सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक सागर में 7, उमरिया में 3, जबलपुर में 2, सीधी में 1, ग्वालियर में 0.9, मलाजखंड में 0.8 मिमी. बारिश हुई। भोपाल में दिनभर आंशिक बादल छाए रहे।

मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बना सिस्टम गहरा कम दाब का क्षेत्र बनकर पश्चिम बंगाल और उत्तरी उड़ीसा के तट पर पहुंच गया है। यह सिस्टम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा। इसके गुरुवार को छत्तीसगढ़ तक पहुंचने की संभावना है। इस सिस्टम के प्रभाव से गुरुवार से भोपाल सहित ग्वालियर-चंबल संभाग में बारिश की गतिविधियां शुरू होने के आसार हैं। शुक्रवार को राजधानी सहित कुछ स्थानों पर भारी बरसात भी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here