भोपाल में मंगलवार को पकड़े गए सेक्स रैकेट के तार दिल्ली से जुड़े हैं। ये एक तरह की एस्कॉर्ट सर्विस है, जिसमें एक कॉल पर देशभर से मनचाही लड़कियां ग्राहकों को उपलब्ध कराई जाती हैं।

0
34

भोपाल में मंगलवार को पकड़े गए सेक्स रैकेट के तार दिल्ली से जुड़े हैं। ये एक तरह की एस्कॉर्ट सर्विस है, जिसमें एक कॉल पर देशभर से मनचाही लड़कियां ग्राहकों को उपलब्ध कराई जाती हैं। भोपाल पुलिस ने पकड़े गए लड़के-लड़कियों से पूछताछ की है, जिसमें उन्होंने कुछ अहम खुलासे किए हैं। पुलिस की मानें तो सेक्स रैकेट का संचालन दिल्ली से होता है। इसमें ऑनलाइन एस्कॉर्ट सर्विस से सभी राज्यों और बड़े शहरों के दलाल जुड़े रहते हैं। भोपाल पुलिस लड़के-लड़कियों से मिले सुराग और कॉल डिटेल के आधार पर दिल्ली में भी दबिश देगी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, छापे में पकड़ा गया दलाल पवन गंभीर उत्तराखंड का रहने वाला है। उसकी पत्नी पूजा इस सर्विस के लिए दिल्ली में काम करती है। वह ग्राहक का फोन आने पर लोगों को उस शहर में मनचाही लड़कियां उपलब्ध कराने का प्रबंध अपने लोकल साथी के जरिए कराती है। पुलिस ने बताया कि ये बहुत बड़ा रैकेट है और भोपाल इसकी एकमात्र ब्रांच है। इसमें पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

दलाल पवन गंभीर मेले-बाजार में फुटवेयर की दुकान भी लगाता
टीआई सुधेश तिवारी ने बताया कि दलाल पवन गंभीर फुटवेयर व्यापारी है। बड़े मेले या बाजारों में वह इसका कारोबार करता है। इसके साथ लंबे समय से वह छोला मंदिर निवासी एक युवती की मदद से सेक्स रैकेट भी संचालित कर रहा है। जबकि दिल्ली से उसकी पत्नी ग्राहकों की कॉल अटेंड कर उन्हें भोपाल में पति का नंबर उपलब्ध कराती है। पवन यहां की युवती के जरिए असम और पश्चिम बंगाल की लड़कियां उपलब्ध कराता है। जो उसके कहने पर फ्लाइट से भोपाल आ जाती थीं।

मंगलवार का दबिश देकर पकड़ा था सेक्स रैकेट
टीआई सुधेश तिवारी के मुताबिक होटल द लेक बर्बन में सेक्स रैकेट संचालित किए जाने की सूचना पर रातीबड़ पुलिस ने मंगलवार सुबह सवा 8 बजे दबिश दी। इस दौरान अलग-अलग कमरों से 5 कॉलगर्ल और 9 युवक मिले। पूछताछ में पता चला कि पांचों कॉलगर्ल यहां ललितपुर से आए 8 व्यापारियों के बुलाने पर आई थीं। पुलिस ने पांचों कॉलगर्ल्स समेत बाकी 9 युवकों को भी गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों में ललितपुर, उप्र निवासी आकाश शर्मा, अर्पित जैन, नवल सिंह प्रजापति, अमित सोनी, विशाल जैन, अंजिल जैन, सौरभ नायक, होशंगाबाद निवासी पुरुषोत्तम पटेल और दलाल पवन गंभीर शामिल हैं।

आठों युवक हैं दोस्त, अय्याशी के लिए बुलाते थे कॉलगर्ल
पकड़े गए ललितपुर निवासी आठों युवक आपस में दोस्त हैं। ललितपुर में सभी अलग-अलग व्यवसाय करते हैं। व्यापार के सिलसिले में भोपाल आते-जाते रहते हैं। अय्याशी के लिए अक्सर पवन या उसकी साथी को कॉल कर इस रैकेट की सेवाएं लेते हैं। पवन और उसकी साथी इन व्यापारियों से एक कॉलगर्ल के 8-10 हजार रुपए लेते थे।