भोपाल, राजधानी भोपाल के कोलार इलाके में एक दर्दनाक हादसा हुआ

0
130

भोपाल, राजधानी भोपाल के कोलार इलाके में एक दर्दनाक हादसा हुआ है। इस हादसे में नर्सिंग की एक छात्रा की मौत हो गई है। छात्रा तीसरी मंजिल स्थित अपने फ्लैट के बालकनी की रैलिंग पर बैठ कर फोन पर बात कर रही थी। बात करते वक्त पैर फिसल गया और वह तीसरी मंजिल से नीचे गिर गई। उसके बाद कैंपस में कोहराम मच गया। आनन-फानन में लोग अस्पताल लेकर भागे लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
गिरने के बाद छात्रा जोर से चिल्लाई थी। आवाज सुन कर उसकी 2 रूम मेट्स दौड़ते हुए आईं, दोनों फ्लैट में उस वक्त खाना खा रही थी। उसके बाद दोनों छात्रा को अस्पताल लेकर गईं। लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं, कोलार पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार छात्रा बालकनी की रैलिंग पर बैठ कर मोबाइल से बात कर रही थी। इसके लिए पूर्व में उसके रूममेट्स ने मना किया था और उसके पैरेंट्स से भी शिकायत की थी। लेकिन मृतक ने इसे बहुत ही कैजुअल लिया था।
कोलार थाने के पुलिस अधिकारी रविंद्र चौकले ने कहा कि मृतक दीक्षा बिसेन मूल रूप से बालाघाट की रहने वाली थी। वह नर्सिंग में द्वितीय वर्ष की छात्रा थी। वह कोलार के ललिता नगर में रेंट पर रहती थी। साथ ही में उसकी कजिन अंजलि और दोस्त काजल रहती थी। वो दोनों भी बालाघाट की रहने वाली थीं और यहां से नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थीं।
सरकार की बढ़ी टेंशन, कृषि मंत्री के क्षेत्र से भी किसान आज दिल्ली कूच करेंगे
एसआई चौकले ने कहा कि पहले दीक्षा हॉस्टल में रहती थी। लेकिन कुछ दिन पहले यह हॉस्टल छोड़ कर फ्लैट में रहने आई थी। आरोप था कि खराब खाने की वजह से उसने हॉस्टल छोड़ी थी। 18 नवंबर से वह ललिता नगर स्थित फ्लैट में रह रही थी। दीक्षा तीसरी मंजिल पर रहती थी। दीक्षा के दोस्त काजल ने पुलिस से बताया कि रविवार की शाम हम लोग शिफ्ट खत्म कर फ्लैट लौटे थे और अपने लिए खाना तैयार कर रहे थे। खाने के दौरान दीक्षा के दोस्त का फोन आया और वह बात करते हुए कमरे से बाहर निकल गई। वह अंजलि और काजल रूम में ही खाना खाते रही।(UNA)