भोपाल 1 फरवरी को देश का आम बजट आने वाला है। बजट से हर राज्य और लोगों को कुछ न कुछ उम्मीदें होती हैं। बजट से पहले बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बड़ी मांग की है।

0
170

भोपाल
1 फरवरी को देश का आम बजट आने वाला है। बजट से हर राज्य और लोगों को कुछ न कुछ उम्मीदें होती हैं। बजट से पहले बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बड़ी मांग की है। अगर उनकी मांग पूरी होती है तो चंबल इलाके का कायापलट हो जाएगा। इसके लिए उन्होंने वित्त आयोग के अध्यक्ष एनके सिंह को चिट्ठी लिखी है।
ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। बीजेपी में आने के बाद ग्वालियर-चंबल में चल रहे विभिन्न परियोजनाओं को लेकर उन्होंने दिल्ली में केंद्रीय मंत्रियों से कई बार मुलाकात की है। इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एनके सिंह को एक चिट्ठी लिखी है। उन्होंने इस चिट्ठी के माध्यम से एमपी में विभिन्न परियोजानओं के लिए फंड की मांग की है।
इन क्षेत्रों के लिए फंड की मांग
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर कहा है कि 15वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एनके सिंह को पत्र लिख कर निम्न विकास कार्यों के लिए इस वर्ष बजट में फंड आवंटित करने का अनुरोध किया था। जिसमें चंबल नदी से ग्वालियर और मुरैना में पानी लाने के लिए प्रोजेक्ट। चंदेरी के बुनकरों का विकास, ग्वालियर-शिवपुरी और चंदेरी क्षेत्र के पर्यटन में विकास और बाबा महाकालेश्वर मंदिर का अनुरक्षण है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि मुझे आशा है कि 1 फरवरी के बजट में, ग्वालियर चंबल संभाग, उज्जैन, शिवपुरी, मुरैना और ओरछा के लिए इनकी स्वीकृति की सकारात्मक खबर आएगी और भविष्य में इन क्षेत्रों के विकास के नए द्वार खुलेंगे।

अब की है चिट्ठी सार्वजनिक
गौरतलब है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एनके सिंह मुलाकात के बाद ये चिट्ठी 8 अगस्त 2020 को ही लिखी थी। बजट से पहले उन्होंने इसे सार्वजनिक किया है। ऐसे में इसके सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं कि आखिर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बजट से पहले इस चिट्ठी को सार्वजनिक क्यों की है। क्या उन्होंने इसके जरिए उन्होंने सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश की है। हालांकि ये तो तय कि उनकी मांग पूरी होने के बाद इन इलाकों का कायापलट हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here