मदरसा बम विस्फोट मामले में ATS की एंट्री, आतंकी कनेक्शन की भी होगी जांच, गांव में पसरा सन्नाटा

0
6

बिहार के बांका सदर थाना क्षेत्र के नवटोलिया गांव स्थित मदरसा में मंगलवार को हुए शक्तिशाली बम विस्फोट के तीसरे दिन गुरूवार को पुलिस सहित विभिन्न जांच एंजेन्सी का अनुसंधान लगातार जारी है. गुरूवार को पटना से आयी एटीएस की चार सदस्यीय टीम ने दूसरी बार घटना स्थल का दौरा कर मामले की जांच की. एटीएस टीम का नेतृत्व कर रहे इंसपेक्टर रंजीत सिंह ने बताया कि घटना के प्रत्येक पहलू की गंभीरता से जांच की जा रही है.
मसलन घटना में विस्फोटक बम की क्षमता क्या थी, बम बनाने में हाइ एक्सक्लूसिव पदार्थ का इस्तेमाल हुआ है कि नही.घटना के पीछे किस – किस संगठन व कौन – कौन लोग शामिल हैं. इसका तार कहां – कहां से जुडा हुआ है. आइइडी ब्लास्ट है कि नहीं. आगे उन्होंने बताया कि सभी पहलूओं पर जांच चल रही है,टीम को अभी तक कोई ठोस प्रमाण नहीं मिला है.
उन्होंने आगे बताया कि एकत्रित सेंपल की गहनता से जांच चल रही है. उधर इसके पूर्व सेंट्रल आइबी की 10 सदस्यीय टीम ने सुबह – सबेरे घटनास्थल का दौरा कर जरूरी साक्ष्य इकट्ठा कर अपने साथ ले गयी है,टीम ने जांच के बाद स्थानीय स्तर पर कोई जानकारी नहीं दी है,बताया जा रहा है टीम को कुछ अहम सुराग मिला है
एसआईटी कर रही है मामले की जांच- बम विस्फोट के बाद तीसरे दिन भी गांव में अजीब सा सन्नाटा पसरा रहा. गांव के पुरूष पहले से ही गायब हैं, कुछ महिलाएं गांव में जरूर हैं, लेकिन मुंह खोलने को तैयार नहीं है. बम विस्फोट मामले में एसपी ने एसआइटी का गठन कर दिया है,एसआइटी की टीम लगातार छापामारी अभियान चला रही है.
बताया जा रहा है कि मृतक इमाम के शव को फेंक कर फरार चालक कौन था, ऑल्टो वाहन किसकी थी, पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है, लेकिन पुलिस को अभी तक कोई अहम सुराग नहीं मिला है ,हलांकि बांका पुलिस मामले को स्थानीय एंगल से जोड़ कर जांच में जुटी हुई है.
मेडिकल टीम के द्वारा दी गयी पोस्टमार्टम रिपोर्ट को आधार मान कर जांच को आगे बढ़ा रही है,एसपी अरबिंद कुमार गुप्ता ने बताया है कि पुलिस की जांच सही दिशा में चल रही है एफएलएस टीम के जांच रिपोर्ट का इंतजार है. घटना में अन्य जख्मी की कोई सूचना नहीं है. हालांकि पुलिस गांव में कैंप कर रही है.