मुंबई, बिहार के चुनावी समर का परिणाम किसके पक्ष में होगा इस पर सभी दलों की निगाहें टिकी हुई हैं

0
58

मुंबई, बिहार के चुनावी समर का परिणाम किसके पक्ष में होगा इस पर सभी दलों की निगाहें टिकी हुई हैं। हालांकि अब तक जो नतीजे सामने आए हैं। उनको देखते हुए नीतीश कुमार एक बार फिर से तख्त पर बैठने की कगार पर पहुंचते हुए नजर आ रहे हैं। लेकिन महाराष्ट्र में सत्ताधारी दल शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा है कि इस चुनाव के मैन ऑफ द मैच (Tejaswi Yadav) तेजस्वी यादव हैं। कई बार मैच में हार हो जाती है लेकिन मैन ऑफ द मैच किसी और को ही मिलता है। उन्होंने यह भी कहा कि अब नीतीश कुमार को आत्मचिंतन करने की भी आवश्यकता है।
राजनीति में बड़ा चेहरा बनकर उभरे तेजस्वी
संजय राऊत ने तेजस्वी यादव की तारीफ करते हुए कहा कि तेजस्वी राष्ट्रीय राजनीति में एक बड़ा चेहरा बनकर उभरे हैं। 30 वर्ष की आयु में तेजस्वी ने नीतीश कुमार को चारों खाने चित करने का हौसला दिखाया है। तेजस्वी के एक तीर ने नीतीश कुमार के सभी अस्त्रों को पस्त कर दिया। तेजस्वी का बेरोजगारी का मुद्दा और 10 लाख लोगों को नौकरी देने का भरोसा बिहार चुनाव में बाकी सभी मुद्दों पर भारी पड़ गया। भले ही यह चुनाव कई सारे बड़े राजनीतिक धुरंधरों का गवाह रहा हो लेकिन यह चुनाव तेजस्वी के इर्द-गिर्द ही घूमता रहा है।
नीतीश कुमार के लिए आत्मचिंतन का वक्त
संजय राउत ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि अब उन्हें आत्मचिंतन करने की आवश्यकता है। नीतीश कुमार को यह सोचना होगा कि आखिर तीन बार मुख्यमंत्री होने के बावजूद उनके पार्टी राज्य में तीसरे नंबर पर कैसे पहुंची। संजय राउत ने कहा कि नतीजों में भले ही जेडीयू पीछे रही हो। लेकिन बीजेपी को नीतीश को मुख्यमंत्री बनाना होगा। अगर कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन किया होता तो तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनते।(UNA)