मुंबई भाजपा सरकार द्वारा पारित विवादास्पद कृषि और श्रम कानूनों के विरोध में मुंबई कांग्रेस 2 अक्टूबर को ‘मौन विरोध’ करेगी। यह फैसला मंगलवार को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया।

0
63

मुंबई
भाजपा सरकार द्वारा पारित विवादास्पद कृषि और श्रम कानूनों के विरोध में मुंबई कांग्रेस 2 अक्टूबर को ‘मौन विरोध’ करेगी। यह फैसला मंगलवार को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया।

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए, मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड ने कहा कि 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन है और उसी दिन आंदोलन शुरू होगा। मुंबई के आजाद मैदान के पास, राजीव गांधी भवन में मौन धरना और आंदोलन का आयोजन किया जाएगा।

इसके अलावा, 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक, मुंबई कांग्रेस द्वारा प्रत्येक वॉर्ड में मौन विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। उस वॉर्ड और उस प्रभाग में सभी स्थानीय नेता, नगरसेवक और विधायक आंदोलन में शामिल होंगे और किसानों और श्रमिकों के लिए संघर्ष करेंगे। इसी तरह, मुंबई कांग्रेस मुंबई में भाजपा सरकार के कृषि कानून के खिलाफ एक हस्ताक्षर अभियान भी शुरू करेगी।