मुंबई, महाराष्ट्र सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री यशोमती ठाकुर मुश्किलों में घिरती हुई नजर आ रही हैं

0
9

मुंबई, महाराष्ट्र सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री यशोमती ठाकुर मुश्किलों में घिरती हुई नजर आ रही हैं। दरअसल यशोमती ठाकुर को अमरावती कोर्ट ने एक पुलिसकर्मी से मारपीट के मामले में 3 महीने जेल की सजा और 15 हज़ार रुपए का जुर्माना लगाया है।
मारपीट के मामले में कार चालक भी दोषी
मारपीट के इस मामले में यशोमती ठाकुर के अलावा उनके कारचालक और दो कार्यकर्ताओं को भी अदालत ने दोषी ठहराया है। इतना ही नहीं इस मामले में झूठी गवाही देने वाले एक पुलिसकर्मी को भी अदालत ने सजा सुनाई है।
कहां हुआ मुंबई में मौत का स्टंट
क्या है मामला
जिस मामले में राज्य की मौजूदा कैबिनेट मंत्री और उनके सहयोगियों को अमरावती के अदालत ने दोषी करार देते हुए सजा सुनाई है। वह मामला तकरीबन 8 साल पुराना है। 8 साल पहले यशोमती ठाकुर ने अमरावती जिले के अंबादेवी मंदिर के पास उल्हास रौराले नाम के एक ऑन ड्यूटी पुलिसकर्मी को मारा था। उस समय इस मामले में यशोमती ठाकुर के कार चालक और उनके दो कार्यकर्ताओं को भी आरोपी बनाया गया था।