मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने दुग्ध किसानों के लिए विशेष कोविड सहायता राशि प्रदान की है।

0
42

भुवनेश्वर, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य के दुग्ध किसानों के लिए विशेष कोविड सहायता राशि प्रदान की है। प्रदेश के एक लाख दुग्ध किसान को 6000 रुपए के हिसाब से सहायता दी गई है। सरकार ने इसके लिए 11 करोड़ रुपया खर्च किया है। यहां उल्लेखनीय है कि ओमफेड के जरिए राज्य के 3700 दुग्ध उत्पादन समवाय समिति एवं 2.63 लाख दुग्ध किसान दुग्ध उत्पादन कर रहे हैं। इसमें 1292 महिला समवाय समिति जबकि 1 लाख 5 हजार महिला किसान भी दुग्ध उत्पादन में शामिल है।
प्रदेश के प्रत्येक दुग्ध किसान को 6 हजार रुपये के हिसाब से प्रदान करने के बाद मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा है कि राज्य सरकार हर समय गरीबों के साथ खड़ी है। गरीबो के हित के लिए काम कर रही है। गरीबों पर पड़े कोरोना महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए राज्य सरकार ने छोटे दुकानदार, छोटे किसान, मिशन शक्ति की महिलाओं के खाते में 2000 करोड़ रुपये से अधिक रुपया जमा कर चुकी है। छोटे किसानों को रोजगार के क्षेत्र में गौ पालन के अवदान के बारे में जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सहायता राशि से इनके रोजगार बढ़ने के साथ ही ग्रामीण अर्थव्यवस्था भी बेहतर होगी। इससे महिलाओं को रोजगार तो मिलेगा ही बच्चों का स्वास्थ्य भी बेहतर होगा। दुग्ध उत्पादन में बढ़ोत्तरी कर राज्य में कुपोषण के स्तर को करने का सरकार ने लक्ष्य रखा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि दुग्ध किसानों के लिए राज्य सरकार ने कई योजनाएं चल रखी है। किसान से योजनाओं का लाभ लेकर राज्य में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहयोग करने के लिए मुख्यमंत्री ने अनुरोध किया है। इस कार्यक्रम में राज्य कृषि एवं किसान सशक्तिकरण, मछली एवं पशुपालन विकास मंत्री अरुण साहू ने राज्य में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने की दिशा राज्य सरकार के विभिन्न योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
फाइव टी एवं मो सरकार राज्य प्रशासन का मूलमंत्र है। इससे राज्य के पशुपालन के क्षेत्र में बड़ा परिवर्तन हुआ है। हाकी में भारतीय टीम की जीत के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के अवदान के कारण आज ओडिशा विभिन्न क्षेत्र में गौरवान्वित हो रहा है। बरगड़ विधायक देवेश आचार्य, नवरंगपुर विधायक सदाशिव प्रधानी एवं बड़ंबा विधायक देवी प्रसाद मिश्र प्रमुख किसान कल्याण योजना के बारे में अपने अपने विचार रखे। मुख्यमंत्री के सचिव (5टी) वी.के.पांडियन ने कार्यक्रम का संचालन किया। मछली एवं पशुपालन विभाग के सचिव के.रघु ने स्वागत भाषण दिया। मुख्य सचिव सुरेश चन्द्र महापात्र, कृषि उत्पादन आयुक्त आर.के.शर्मा एवं ​विभिन्न विभाग के प्रमुख सचिव व सचिव इस अवसर पर उपस्थित थे।