मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य के 32 लाख श्रमिकों को कोविड सहायता राशि दी

0
53

भुवनेश्वर, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण निश्चित कर्म नियुक्ति योजना में नियोजित राज्य के 32 लाख श्रमिकों को दैनिक मजदूरी के अलावा राज्य सरकार द्वारा घोषित अतिरिक्त विशेष कोविड सहायता के बाबत 352 करोड़ रुपया प्रदान किया गया है। श्रमिकों के लिए पहले से मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने यह विशेष कोविड सहायता राशि (दैनिक मजदूरी के साथ अतिरिक्त 50 रुपया) प्रदान करने की घोषणा की थी। पिछले अप्रैल से जून यानी तीन महीने तक काम करने वाले श्रमिकों को प्रत्येक दिन की मजदूरी के साथ अतिरिक्त 50 रुपये उपभोक्ता के बैंक खाते में जमा किया गया है। इससे प्रत्येक श्रमिक को कम से कम 50 रुपये से सर्वाधिक 4500 रुपये तक अतिरिक्त मजदूरी मिलेगी। इसके लिए सरकार ने 352 रुपया प्रदान किया और इससे 32 लाख श्रमिकों को लाभ मिला है।
मुख्यमंत्री ने उक्त कोविड सहायता राशि प्रदान करते हुए कहा है कि हमारी सरकार गरीबों के लिए सदैव समर्पित है। गरीबों के लिए कार्यक्रम चलाकर मुझे आत्मसंतुष्टि मिलती है। इस मदद से श्रमिक परिवार को निश्चित रूप से लाभ मिलेगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जिला स्तर पर अधिक श्रम दिवस बनाने के लिए जिला प्रशासन को निर्देश दिया है।
यहां उल्लेखनीय है कि कोविड महामारी की दूसरी लहर में गरीबों की असुविधा को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री पटनायक ने 1690 करोड़ रुपये का विशेष सहायता पैकेज घोषित किया है। इसमें श्रमिकों के लिए 352 करोड़ रुपया है। मनरेगा में पिछले साल 20 करोड़ श्रम दिवस हुआ था। इस साल अब तक 7 करोड़ श्रम दिवस हो चुका है। साल के अंत तक 25 करोड़ श्रम दिवस सृष्टि करने के लिए सरकार ने लक्ष्य रखा है।
मुख्यमंत्री ने कहा है कि पिछले साल से कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन एवं शट डाउन होने से गरीब मजदूरों का रोजगार कम हुआ है। ऐसे में लोगों की जीविका के ऊपर फोकस करते हुए राज्य सरकार किसान, श्रमिक, दूध किसान, अस्थाई दुकानदार आदि के लिए 1690 करोड़ रुपये के सहायता पैकेज की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने सभी कोविड नियम का अनुपालन करने ए​वं कोविड टीका लगवाने के लिए अनुरोध किया है।