मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सहारनपुर आएंगे। वह शहर में करीब सवा तीन घंटे रहेंगे। प्रशासन को प्राप्त कार्यक्रम के अनुसार, सीएम योगी दोपहर एक बजे हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइन पहुंचेंगे

0
57

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सहारनपुर आएंगे। वह शहर में करीब सवा तीन घंटे रहेंगे। प्रशासन को प्राप्त कार्यक्रम के अनुसार, सीएम योगी दोपहर एक बजे हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइन पहुंचेंगे। यहां से वाया कार मंडलायुक्त सभागार जाएंगे। वहां करीब आधा घंटा जनप्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगे।
इसके बाद एक घंटा समीक्षा बैठक चलेगी, जिसमें सहारनपुर मंडल के तीनों जिलों के डीएम, सीडीओ, अपर निदेशक, स्वास्थ्य एवं मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य मौजूद रहेंगे। यहां कोविड-19 की स्थिति, उपचार और मेडिकल कॉलेजों की व्यवस्थाओं की समीक्षा करेंगे। फिर यहां से सरसावा एयरपोर्ट जाएंगे और वहां से लखनऊ प्रस्थान करेंग।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे से एक दिन पहले अफसरों ने जिला अस्पताल का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। महिला अस्पताल में फर्श पर गंदगी देख कमिश्नर ने नाराजगी व्यक्त की और सुधार के निर्देश दिए।

कमिश्नर संजय कुमार, डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल, डीएम अखिलेश सिंह, एसएसपी डॉ. एस चिनप्पा, नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह, एसपी सिटी विनीत भटनागर समेत अनेक अधिकारी शुक्रवार को दोपहर 12:10 बजे एसबीडी जिला अस्पताल पहुंचे। उनके साथ सीएमओ डॉ. बीएस सोढी, एसआईसी डॉ. एसएस लाल भी रहे। अधिकारियों ने पहुंचते ही सबसे पहले इमरजेंसी का निरीक्षण किया। दीवारों पर लगे फ्लैक्स को साफ करने और व्यवस्था में सुधार के निर्देश कमिश्नर ने दिए।

यूपी: लखनऊ तक गूंजा मामला, पांच तस्कर गिरफ्तार, दीवारों पर लिखा था ‘मकान बिकाऊ है’

इसके बाद अधिकारी जिला महिला अस्पताल पहुंचे। कमिश्नर ने यहां अधूरे पड़े निर्माण के बारे में पूछा। इसके बाद वह सीधे ओपीडी हॉल में गए, जहां सीएमएस डॉ. ममता सोढ़ी और स्टाफ से पूछताछ की। कोरोना की जांच के लिए बने कक्ष के गेट पर कोरोना जांच कक्ष की प्लेट लगाने के निर्देश दिए। इसी से कुछ आगे फर्श पर धूल जमी देख उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। फर्श को अच्छे से रगड़वाकर साफ कराने के निर्देश सीएमएस को दिए।

इसके बाद उन्होंने नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई का निरीक्षण किया। सभी अधिकारी इकाई के भीतर करीब दस मिनट रहे। कमिश्नर ने अस्ताल परिसर में लगे पुराने और फटे होर्डिंग और फ्लैक्स को भी बदलने के निर्देश दिए। अंत में उन्होंने महिला अस्पताल के गेट चिकित्साधिकारियों को तमाम व्यवस्थाएं दुरुस्त कर लेने के निर्देश दिए। इसके बाद अधिकारी लौट गए।