मुलताई के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कपड़े धोने का काम करने वाली चंपा पवार, जिसकी वर्ष 2014 से 2016 तक का मानदेय रुकी होइ थी जो कि अभी तक अधिकारियों द्वारा बहाने बना कर जारी नही की जा रही थी, जबकि इसी दौरान चम्पा बाई की बेटी की शादी जुड़ी ओर तबसे चंपा बाई शादी के लिए पैसों का इंतज़ाम करती यहां वहां भटकती रही, जब ये बात चम्पा बाई ने मप्र सरकार के कैबिनेट मंत्री एवम क्षेत्रीय विधायक सुखदेव पांसे को बताई तो मंत्री जी ने तुरंत सी. एच. एम.ओ. बैतुल से बात करके तुरंत उस महिला को 52,000 रुपए का चेक प्रदान करवाया।