मुलताई सवदाता :मयूरी अपने पैरों पर हुई खड़ी, बनना चाहती है आईएएस।

0
1

मुलताई, मयूरी अपने पैर पर खड़ी होकर अब थोड़ी थोड़ी चलने लगी है। यह वही मयूरी है जिसे आज से लगभग 11 महीने पहले मुलताई नगर के स्टेशन चौक पर नशे में धुत मानसिक रोगी ने उसके सर पर वार किया जिससे वह गंभीर हालत में कोमा में चली गई। इस घटना की खबर लगते ही पूरे मुलताई शहर में उसके लिए हर मंदिर मस्जिद गुरुद्वारे में दुआएं होने लगी और उसके परिवार की कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण उसके इलाज के लिए आवश्यक रुपयों की जरूरत को देखते हुए मुलताई नगर में जागरूक समाजसेवी पाशा खान एवं अन्य संघटनो ने मुहिम छेड़ी और मयूरी की हर संभव मदद करने के लिए पूरे मुलताई को एकजुट कर पूरे नगर से लाखों रुपए जमा कर इलाज के लिए तत्काल पहुंचाएं थे। अब लगभग 11 माह बाद मयूरी अपने पैरों पर पुनः खड़ी हो गई है और चलने लगी है हालांकि अभी भी मयूरी को पूरी तरह स्वस्थ होने में कुछ समय और लगेगा क्योंकि अभी मयूरी का एक हाथ और एक पैर पूरी तरह काम नहीं कर रहा है। मयूरी ने अपने सभी शुभचिंतकों का आभार व्यक्त किया और कहा कि वह आगे पढ़ना चाहती है और पढ़कर आईएएस बनना चाहती है। दूसरी तरफ मयूरी के पिताजी ने बताया कि लगभग 16 लाख रुपए मयूरी के इलाज में लगे जिसमें से लगभग 7 लाख रुपए की उधारी बाकी है मयूरी की मम्मी मयूरी को पुनः अपने पैरों पर चलता हुआ देखकर खुश है।