म.प्र. जिला :- बैतूल सारनी क्षेत्र 64 वा धम्मचक्र प्रवर्तन दिवस शोभापुर कालोनी में स्तिथ बुद्ध विहार में मनाया गया

0
184
सुजाता महिला मंडल के तत्वाधान में शोभापुर कॉलोनी स्थित बुद्ध विहार में 64 वा धम्म चक्र प्रवर्तन दिवस का रंगारंग आयोजन किया गया *भारत रत्न डॉ बाबासाहेब साहब अंबेडकर* में 14 अक्टूबर 1956 को आज ही के दिन *दीक्षाभूमि नागपुर* (महाराष्ट्र) में अपने पांच लाख अनुयायियों के साथ *बुद्ध धर्म की दीक्षा* ली थी बाबा साहब अंबेडकर ने यह दिन इसी लिए चुना क्योंकि ईसा पूर्व तीसरी सदी में *सम्राट अशोक* द्वारा आज ही के दिन बौद्ध धर्म अपनाया गया था तब  बौद्ध वर्ष  2500  था अतः *यह दिन अशोक विजयादशमी के नाम से भी अलग-अलग प्रदेशों में मनाया जाता है*
 बाबा साहब अंबेडकर ने यह दीक्षा बीसवीं सदी में ली।
 इस अवसर पर प्रातः 11:00 बजे पंचशील ध्वजारोहण अध्यक्ष आयुष्मति कमला पाटिल तथा सदस्यों द्वारा किया गया एवं बाबा साहब अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण ऊबनारे जी , आठनेरे जी,पाटिल सर, त्रिलोक लोखंडे, प्रभु मसतकर,आरजू सातनकर, राजू भारती एवं अन्य साथियों के द्वारा किया गया
*परित्राण पाठ*
 64वें धम्मचक्र प्रवर्तन दिवस के अवसर पर वरिष्ठ उपासक श्री त्रिलोक लोखंडे द्वारा परित्राण पाठ किया गया जिसमें सभी उपासक एवं उपासिकाये ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया तथा दोपहर 2:00 बजे से सुजाता महिला मंडल शोभापुर कॉलोनी द्वारा *बुद्ध तथा भीम के भजनों* का रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई एवं सायं 4:00 बजे से भोजन प्रसादी का वितरण किया गया कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन आयुष्मति कमला पाटिल एवं निर्मला आठनेरे के द्वारा किया गया वैश्विक महामारी के इस कोरोना काल में सामाजिक समरसता एवं आपसी भाईचारे की भावना को ध्यान में रखकर इस कार्यक्रम से माध्यम से संदेश दिया गया ।