युवा मंच के संयोजक राजेश सचान को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया, पुलिस का दमन जारी

0
166

प्रयागराज ब्यूरो
26 जनवरी,

कल 25 जनवरी को रेल्वे में भर्ती में भयंकर धांधली को लेकर छात्रों-नौजवानों का गुस्सा जब फूटा तो पुलिस की बर्बरता भी कई जगहों पर देखने को मिली। स्वतःस्फूर्त ढंग से चरम बेरोजगारी की मार झेल रहे नौजवानों का विछोभ और बढ़ गया जब रेल्वे का परिणाम आया। प्रयाग में पुलिस ने ना केवल प्रदर्शंकारियों पर लाठी भांजा, बल्कि मुहल्लों में भी घुस कर छात्रों को बेरहमी से पीटा गया और उन्हें जेल में डाल दिया गया। आज दूसरे दिन भी छात्र और नौजवानों के संगठनों के नेताओं की गिरफ्तारी हुई, जिसमें युवा मंच के राष्ट्रीय संयोजक राजेश सचान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस घटना की काँग्रेस, समाजवादी पार्टी, रालोद, बहुजन समाज पार्टी सहित सभी वामपंथी दलों ने तीखी भर्त्सना की है।
कल प्रयागराज में छात्रों पर पुलिसिया जुल्म ढहाया गया। तमाम निर्दोष छात्रों को हिरासत लिया गया है और लाज व हास्टल में घुसकर पुलिस ने बर्बरता की। सैकड़ों छात्रों पर बेहद गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज किए गये है। छात्र भारी दशहत में हैं। दरअसल प्रशासन बेवजह छात्रों के दमन पर आमादा है।
गौरतलब है कि रेलवे के एनटीपीसी के छात्रों द्वारा पहले ट्विटर पर देशव्यापी मुहिम चलायी गई। रेलवे प्रशासन के द्वारा छात्रों की ट्विटर मुहिम पर रेलवे प्रशासन के अड़ियल रवैये से आक्रोशित युवा सड़क पर उतर आए। प्रयागराज, पटना, आरा से लेकर हर जगह छात्र शांतिपूर्ण ढंग से ही अपनी जायज मांगों को उठा रहे हैं जोकि युवाओं का लोकतांत्रिक हक है।
15 जनवरी को रेलवे एनटीपीसी के परिणाम के घोषित होने पर आंदोलन जारी था इसी बीच 24 जनवरी को रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा फरमान जारी कर रेलवे ग्रुप डी परीक्षा में चयन प्रक्रिया में बदलाव कर प्रीलिम्स व मेंस कर दिया गया जबकि पहले सिर्फ चयन प्रक्रिया में एक ही चरण था, इससे 3 साल से अटकी परीक्षा में और देरी होने और चयन प्रक्रिया को जटिल बनाने और एनटीपीसी रिजल्ट में धांधली से आक्रोशित युवाओं ने देशव्यापी आंदोलन का आवाहन किया था। बता दें कि लोकसभा चुनाव के पहले 2019 में रेलवे द्वारा एनटीपीसी में 35 हजार और ग्रुप डी के लिए तकरीबन के एक लाख पदों के लिए विज्ञापन जारी किए गए थे जिसमें दोनों परीक्षाओं के लिए एक-एक करोड़ से ज्यादा युवाओं ने आवेदन किया था। इन दोनों परीक्षाओं को आयोजित करने के लिए छात्रों ने देशव्यापी मुहिम चलाई, युवा मंच द्वारा भी प्रयागराज में 4 महीने तक चले रोजगार आंदोलन में भी इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया गया। इसके बाद रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा फरवरी 2022 में रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा घोषित की गई और दिसंबर 2021 में एनटीपीसी की सीबीटी-1 की परीक्षा आयोजित कराई गई। 15 जनवरी 2022 को एनटीपीसी के सीबीटी-1 का परीक्षा परिणाम घोषित किया गया, इसमें छात्रों ने नार्मलाईजेशन के नाम पर भारी धांधली करने और नोटिफिकेशन के मुताबिक 20 गुना अभ्यर्थियों को क्वालीफाई करने का अनुपालन न करने के सवाल पर ट्वीटर पर देशव्यापी मुहिम शुरू की लेकिन रेलवे प्रशासन द्वारा छात्रों की जायज मांगों पर विचार करने से इंकार किया गया। उलटे रोज नये नये फरमान जारी करने ने युवाओं के आक्रोश को बढ़ा दिया। युवा मंच ने छात्रों का दमन बंद करने, हिरासत में लिये गये छात्रों को तत्काल रिहा करने और दर्ज मुकदमें वापस लेने की मांग की है। युवा मंच ने प्रधानमंत्री मोदी से रेलवे अभ्यर्थियों के छात्रों के जायज मांगों को हल करने के लिए तत्काल हस्तक्षेप करने की भी अपील की है।

एक बयान में आइपीएफ ने प्रयागराज में छात्रों पर बर्बर दमन की कड़ी निंदा करते हुए आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस. आर. दारापुरी ने प्रयागराज में आंदोलनरत छात्रों पर योगी सरकार की पुलिस द्वारा ढाए बर्बर दमन की कड़ी निंदा की और छात्रों पर हो रहे दमन पर रोक लगाने, छात्रों को रिहा करने, उन पर दर्ज मुकदमें वापस लेने और दमन करने वाले पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों को दण्ड़ित करने की मांग की है। आइपीएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व आईजी एस. आर. दारापुरी ने प्रेस को जारी अपने बयान में कहा कि कल प्रयागराज में छात्रों पर पुलिस ने बेवजह जुल्म ढाया। पुलिस द्वारा लाज व हास्टल में घुसकर छात्रों को पीटा गया, तमाम निर्दोष छात्रों को हिरासत में लिया गया और गम्भीर धाराओं में मुकदमें दर्ज किए गए है। दरअसल छात्र रेलवे भर्ती में व्याप्त अनियमितता के खिलाफ आंदोलनरत है और कल प्रयागराज, पटना, आरा समेत देश में विभिन्न जगहों पर शांतिपूर्ण ढंग से अपना प्रतिवाद दर्ज करा रहे थे। छात्रों की जायज मांग पर विचार करने की जगह पटना और प्रयागराज में दमन ढाया गया। आइपीएफ इस दमन की निंदा करता है और केंद्र सरकार से रेलवे भर्ती के छात्रों की जायज मांगों पर विचार करने की मांग करता है।