यूपी में गुरुवार रात से लागू होने वाली फास्टैग व्यवस्था की डेडलाइन अब 15 फरवरी कर दी गई है। सरकार के इस फैसले ने वाहन चालकों को बड़ी राहत दी है।

0
67

यूपी में गुरुवार रात से लागू होने वाली फास्टैग व्यवस्था की डेडलाइन अब 15 फरवरी कर दी गई है। सरकार के इस फैसले ने वाहन चालकों को बड़ी राहत दी है। दरअसल, पूर्व आदेश के अनुसार, एक जनवरी से सभी वाहन चालकों के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया था लेकिन इस व्यवस्था में आ रही दिक्कतों को देखते हुए सरकार ने अब डेडलाइन बढ़ा दी है।

दरअसल, फास्टैग व्यवस्था लागू करने के भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के फैसले से स्थानीय अधिकारी दुविधा में थे। उनका कहना था कि टोल प्लाजा पर 40 प्रतिशत तक टैक्स की राशि अब भी नकद आ रही है। कहीं कैमरों की, तो कहीं नेटवर्क की दिक्कत भी बनी हुई है। ऐसे में टोल वसूली की पूरी व्यवस्था को कैशलेस करना आसान नहीं होगा। बुधवार को विभिन्न टोल प्लाजा पर स्थिति का जायजा लिया। कई जगहों पर कैमरे वाहनों पर लगे फास्टैग को ठीक से स्कैन नहीं कर पा रहे थे। एनएचएआई के परियोजना निदेशक एनएन गिरि ने बताया कि कैशलेस व्यवस्था लागू करने में कुछ समस्याएं आ सकती हैं।

कैमरे उन्हीं फास्टैग को स्कैन नहीं कर पा रहे हैं, जिन्हें अगले शीशे के मध्य भाग में लगाने के बजाय दाएं-बाएं लगाया हुआ है। इस समस्या से निपटने के लिए सभी टोल प्लाजा पर हैंडहेल्ड मशीनें भी दी जा रही हैं

लखनऊ से सटे जिलों के हाल…
लखनऊ: रायबरेली हाईवे पर निगोहां के पास दखिना शेखपुर टोल मैनेजर अनिरुद्घ सिंह के अनुसार, 45 प्रतिशत ट्रैफिक कैशलेन से गुजर रहा है। फास्टैग लेन में कई बार वाहन नहीं होते। सीतापुर हाइवे पर मानपुर चौराहा स्थित टोल प्लाजा से 30 प्रतिशत वाहन बिना फास्टैग के गुजरते हैं।

बाराबंकी : एक-एक किमी लंबा जाम
बाराबंकी में मात्र 60 प्रतिशत वाहन ही फास्टैग से भुगतान कर रहे हैं। अहमदपुर टोल प्लाजा, शहावपुर टोल प्लाजा व हैदरगढ़ टोल पर शाम से लेकर रात 2 बजे एक-एक किमी लंबा जाम लगा रहता है।

सुल्तानपुर : आए दिन कैमरे खराब
सुल्तानपुर में भीखूपुर टोल पर आए दिन कैमरे खराब रहने की शिकायतें मिलती हैं। इससे दो लेन बंद कर अन्य फास्टैग व कैशलेन का संचालन करना पड़ता है। कर्मचारियों का भी टोटा है।

अयोध्या : रिचार्ज न होने से लंबी कतारें
अयोध्या के रौनाही टोल प्लाजा पर वाहनों के फास्टैग रिचार्ज नहीं होने पर वाहनों की लंबी कतार लग जाती है। उधर, सीतापुर के खैराबाद टोल पर लगी मशीनें फास्टैग को स्कैन नहीं कर पातीं। बहराइच में भी नानपारा स्थित टोल प्लाजा पर स्कैनिंग मशीन में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

रायबरेली : 60 फीसदी वाहनों में फास्टैग नहीं
बछरावां, ऐहार व रग्घूपुर टोल प्लाजा में कैमरे से लेकर इंटरनेट तक की दिक्कतें हैं। यहां से गुजरने वाले 60 प्रतिशत वाहनों में फास्टैग नहीं होता। लखनऊ के निगोहां में भी केवल 55 प्रतिशत वाहन ही फास्टैग का प्रयोग कर रहे हैं।

उन्नाव : फास्टैग स्कैनिंग में दिक्कतें
नवाबगंज टोल प्लाजा पर अभी भी 30 फीसदी वाहनों में फास्टैग न होने से दिक्कतें पेश आती हैं। कैशलेन व फास्टैग स्कैनिंग में दिक्कत होने पर लखनऊ व कानपुर की ओर कई किमी लंबा जाम लगता है।