रांची, झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा दर्ज शिकायतवाद में शनिवार को प्रतिवादी बनाए गए गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे अधिवक्ता के माध्यम से सबजज वन वैशाली श्रीवास्तव की अदालत में उपस्थित हुए

0
68

रांची, झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा दर्ज शिकायतवाद में शनिवार को प्रतिवादी बनाए गए गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे अधिवक्ता के माध्यम से सबजज वन वैशाली श्रीवास्तव की अदालत में उपस्थित हुए। निशिकांत दुबे की ओर से हाई कोर्ट के अधिवक्ता दिवाकर उपाध्याय और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता विजय अग्रवाल ने वकालतनामा दाखिल किया। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई की तिथि नौ अक्तूबर निर्धारित की है।
वहीं दो अन्य प्रतिवादियों ट्विटर और फेसबुक ने अदालत को तीसरी बार भी कोई सूचना नहीं दी। इससे पहले कोर्ट ने दो बार सांसद निशिकांत सहित सोशल साइट फेसबुक और ट्विटर को खुद अथवा अधिवक्ता के माध्यम से कोर्ट में उपस्थित होने का आदेश दिया गया था। मालूम हो कि सोशल साइट पर आपत्तिजनक टिपण्णी को लेकर झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने 11 सितंबर को शिकायतवाद दाखिल कराया था। सीएम ने तीनों पर 100-100 करोड़ रुपये मानहानि का दावा किया है।
बीते 26 सितंबर को सब जज वन वैशाली श्रीवास्तव की अदालत द्वारा तीसरी नोटिस जारी किया गया था। इससे पहले 22 सितंबर और 26 सितंबर को अदालत में अपना पक्ष रखने का समय दिया था लेकिन तीनों में किसी ने भी अदालत में पक्ष रखना आवश्यक नहीं समझा।
मालूम हो कि गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने सोशल मीडिया पर सीएम हेमंत सोरेन के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसको लेकर सीएम की ओर से 11 सितंबर को रांची व्यवहार न्यायालय में शिकायतवाद दर्ज कराया गया था।(UNA)