रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के सबसे बड़े नेता शिबू सोरेन की पुत्रवधू और सूबे के मुखिया हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन ने गुरुवार (10 सितंबर, 2020) को एक चिट्ठी सार्वजनिक की

0
92
रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के सबसे बड़े नेता शिबू सोरेन की पुत्रवधू और सूबे के मुखिया हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन ने गुरुवार (10 सितंबर, 2020) को एक चिट्ठी सार्वजनिक की. इसमें उन्होंने झामुमो के एक पदाधिकारी पर गंभीर आरोप लगाये. सीता सोरेन ने आरोप लगाया कि पार्टी का एक महासचिव उनके खिलाफ साजिश रच रहा है.

पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष को संबोधित चिट्ठी में पार्टी की केंद्रीय महासचिव सीता सोरेन ने लिखा है कि पार्टी के महासचिव विनोद पांडेय उनके खिलाफ साजिशें रच रहे हैं. वह जब भी किसी पार्टी कार्यकर्ता से मिलती हैं, विनोद पांडे उसे पार्टी से निष्कासित कर देते हैं. उन्होंने आगे लिखा है कि शिबू सोरेन के साथ उनके पति (स्व. दुर्गा सोरेन) ने पार्टी को अपने खून-पसीने से सींचा है. लेकिन, पार्टी के चंद लोग इसे अपनी जेबी संस्था बनाने की कोशिश कर रहे हैं.

केंद्रीय महासचिव की हैसियत से सीता सोरेन ने पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन से आग्रह किया है कि वह इस मामले का संज्ञान लें. सीता सोरेन ने चिट्ठी में लिखा है कि पिछले दिनों पार्टी की विधायक एवं केंद्रीय महासचिव होने के नाते वह चतरा जिला में स्थित आम्रपाली कोयला परियोजना के विस्थापित आंदोलनकारियों ने उन्हें अपने आंदोलन का समर्थन करने की अपील की थी. उनके बुलावे पर वह सीसीएल के खिलाफ बैठक में शामिल होने के लिए चतरा गयीं.

सीता सोरेन ने कहा है कि इस दरम्यान विनोद पांडे के उकसावे की वजह से वहां के जिला अध्यक्ष पंकज कुमार प्रजापति ने पार्टी के किसी कार्यकर्ता को उनसे (सीता सोरेन से) मिलने नहीं दिया. जिला अध्यक्ष के फरमान को दरकिनार करके जो भी लोग उनसे मिलने आये, सभी लोगों को विनोद पांडे के आदेश पर पार्टी से निष्कासित कर दिया गया.