रांची: रांची पुलिस को खुली चुनौती देकर पीएलएफआइ ने कांके के जमीन कारोबारी से 30 लाख रुपये की रंगदारी मांगी

0
117

रांची: रांची पुलिस को खुली चुनौती देकर पीएलएफआइ ने कांके के जमीन कारोबारी से 30 लाख रुपये की रंगदारी मांगी है। रंगदारी मांगने के लिए वाट्सएप के वर्चुअल नंबर से वीडियो कॉल किया गया। एक ऑडियो व पर्चा भी भेजा है। ऑडियो में कहा है बात कर लीजिए अवधेश जी, मैं पीलएलएफआइ सेंट्रल कमेटी का सदस्य हूं। 30 लाख रुपये सहयोग राशि भेज दीजिए। अन्यथा फौजी कार्रवाई करूंगा। जिसमें जान-माल की हानि होगी। बाकि आप खुद समझदार हैं। कांके ब्लॉक में आपका घर है, सभी का रेकी कर लिया गया है। गार्ड रखना है तो रख लीजिए। एसपी को बोल दीजिए पीएलएफआइ से फोन आया था। सरदार कॉल कर रहा था, दाढ़ी वाला। देख लेते हैं कितना आपलोग को बचाता है। कह दीजिए दो चार को गार्ड दे दे। कितना गार्ड हैं रांची पुलिस के पास हम भी देखते हैं। इस कॉल के आने के बाद हड़कंप मच गया है। मामले में जमीन कारोबारी ने कांके थाने में एफआइआर दर्ज कराई है। इसकी सूचना एसएसपी को भी दी गई है। इससे पहले भी पीएलएफआइ द्वारा मांगी गई रंगदारी की घटनाओं में कॉल करने वाले को पुलिस पकड़ने में फेल रही है। रंगदारी मांगने के सिलसिले को पुलिस नहीं रोक पा रही है। वाट्सएप के वर्चुअल नंबर से किया था काल
वाट्सएप के वर्चुअल नंबर से रंगदारी के लिए कॉल किया गया है। कॉल करने वाले ने अपना परिचय उसी चूहा जायसवाल के रूप में दिया है। हालांकि उसने अपना नाम नहीं बताया। केवल कहा कि बोल दो एसपी को दाढ़ी वाले सरदार ने कॉल किया है। पुलिस संबंधित नंबर की जांच में जुट गई है। संबंधित नंबर की तकनीकी सेल से ट्रेस करने की कोशिश की जा रही है। हाल के दिनों में रंगदारी की प्रमुख घटनाएं
21 नवंबर को डा. शंभू से 20 लाख की रंगदारी मांगी गई थी। इस मामले में पुलिस ने चार को गिरफ्तार किया था।
31 अक्टूबर 2020 को वर्चुअल कॉल के माध्यम से रांची के धुर्वा और कोतवाली इलाके में रहने वाले 2 कारोबारियों से 50- 50 लाख की रंगदारी मांगी गई। पुलिस ने तीन को गिरफ्तार किया था।
08 अक्टूबर 2020 को रांची के दिवंगत बिल्डर अभय सिंह से वर्चुअल कॉल करके दो करोड़ रंगदारी मांगी गई। मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसमें गैंगस्टर सुजीत सिन्हा की भूमिका सामने आई थी।
8 अगस्त 2020 को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईमेल के जरिए जान से मारने की धमकी दी गई थी।
27 अक्टूबर 2020 को पूर्व उपमुख्यमंत्री सुदेश महतो को स्पूफ कॉलिग के जरिए रंगदारी की मांग की गई थी।
18 अक्टूबर 2020 को शाकंभरी राइस मिल के संचालक से गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने एक करोड़ की रंगदारी मांगी।
22 अक्टूबर 2020 को तुपुदाना के कारोबारी प्रवीण कुमार से सुजीत सिन्हा गिरोह के द्वारा एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी गई।(UNA)