राष्ट्रव्यापी हड़ताल का जिलेभर में रहा व्यापक असर

0
58

भाजपा सरकार की जन विरोधी कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ आम जन में गुस्सा: भाकर
कर्मचारियों व आमजन मानस ने सरकार के खिलाफ रोष का किया इजहार

सिरसा। ।(सतीश बंसल)
11 केन्द्रीय ट्रेड यूनियन कर्मचारी संगठनों एवं राज्य फैङरेशनों के आह्वान पर राष्ट्र व्यापी हड़ताल का जिलेभर में व्यापक असर देखने को मिला। सर्व कर्मचारी संघ के आह्वान पर जिलेभर में ब्लॉक स्तर पर कर्मचारियों व आमजन मानस ने हड़ताल में भाग लेकर सरकार के प्रति अपने रोष का इजहार किया। सिरसा में प्रदर्शन की अध्यक्षता सर्व कर्मचारी संघ जिला प्रधान मदनलाल खोथ, जिला सचिव राजेश भाकर, सीटू से जिला सचिव विजय ढुकड़ा, किसान सयुंक्त मोर्चे के नेता सुरजीत सिंह ने की। सर्व कर्मचारी संघ जिला सचिव राजेश भाकर ने बताया कि राष्ट्रव्यापी हड़ताल को लेकर सिरसा जिले भर से विभिन्न विभागों के कर्मचारी व आम जन मानस एकत्रित होकर टाऊन पार्क पहुंचे और यहां से लघु सचिवालय में पहुंचे और नारेबाजी करते हुए अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार सभी सार्वजनिक विभागों को निजी हाथों में देने का प्रयास कर रही है, जिससे आमजन को काफी परेशानियों से जूझना पड़ेगा। वहीं बढ़ती महंगाई पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है, जिसके कारण आमजन त्राहि-त्राहि कर रहा है। सरकार बजाय आम जन मानस की आवाज सुनने की बजाय प्रताडि़त करने का प्रयास कर रही है, जिसे किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हड़ताल को ऐलनाबाद में अध्यक्षता ब्लाक प्रधान राजकुमार गुर्जर ने की, इस हड़ताल में सीटू प्रमिला चौधरी, रिटायर कर्मचारी संघ से सुरजीत सिंह, किसान यूनियन प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश सिहाग, अध्यापक संघ से गुरमीत सिंह, बिजली यूनियन से प्रधान हरिकिशन कंबोज, सीटू से ब्लॉक प्रधान राजू, फायर ब्रिगेड से प्रदेश प्रवक्ता रणबीर फगोडिया, रानियां ब्लॉक से स्वास्थ्य यूनियन के प्रधान विपुल, रिटायर कर्मचारी संघ से गुरमैल सिंह, नगर पालिका से प्रधान जयचंद सहित अन्य कर्मचारी व पदाधिकारी उपस्थित थे।
राष्ट्रव्यापी हड़ताल के कारण रोडवेज का पहिया पूरी तरह जाम रहा। कर्मचारी सुबह ही बस स्टेंड के गेट पर आकर बैठ गए, जिससे कोई भी बस रवाना नहीं हो सकी। बसों के न चलने से यात्रियों को गर्मी के मौसम में बड़ी परेशानियां झेलनी पड़ी। निजी वाहन बस स्टेंड के बाहर से सवारियां ढोते नजर आए।
इस हड़ताल में बैंक, रेलवे, बीमा, कोयला कारखाने, फैक्ट्री, रोडवेज बिजली, बीज विकास निगम, परिवहन, सड़क, बन्दरगाह, पैक्स, मिनिस्ट्रियल स्टाफ , महिला बाल विकास, पटवारी, जलदाय, पीडब्ल्यूडी, पंचायती राज, स्वास्थ्य, नगर परिषद व पालिका, फायर, यूनिवर्सिटी, शिक्षा सहित देश-प्रदेश के तमाम विभाग शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here