लखनऊ, बाबा साहब भीमराव अंबेडकर केंद्रीय विवि में बुधवार को विधि संकाय की काउंसिलिंग शुरू हुई

0
118

लखनऊ, बाबा साहब भीमराव अंबेडकर केंद्रीय विवि में बुधवार को विधि संकाय की काउंसिलिंग शुरू हुई। एलएलबी में प्रवेश के लिए सुबह से ही अभ्यर्थियों के आने का क्रम शुरू हो गया था। सामान्य और आरक्षित सीटों के सापेक्ष विद्यार्थियों की संख्या अधिक होने से सभी को पार्क में खड़े होकर इंतजार करना पड़ा।विद्यार्थियों के साथ ही अभिभावक भी प्रवेश का इंतजार करते रहे।
अंबेडकर विवि में प्रवेश के लिए आयोजित ऑनलाइन परीक्षा के साथ ही चार नवंबर को काउंसिलिंग प्रस्तावित थी। विधि संकाय में प्रवेश को लेकर लगी कतार को देख शिक्षकों के माथे पर भी पसीना आ रहा था। कई चरणों में हो रही काउंसिलिंग के दौरान अपनी बारी के लिए विद्यार्थी घंटों इंतजार करते रहे। दोपहर बाद तक कतार लगी रही। कुलपति प्रो.संजय सिंह की ओर से पारदर्शी प्रवेश को लेकर दिए गए निर्देश का असर भी नजर आया। दस्तावेजों की फोटो काॅपी के बजाय मूल काॅपी देखने के बाद ही प्रवेश के निर्देश दिए गए हैं। मेरिट सूची के साथ ही जाति प्रमाण पत्र भी देखा जा रहा है। आरक्षित श्रेणी और सामान्य श्रेणी दो वर्गों में सीटें बटने से मेरिट सूची में नीचे नाम आने से विद्यार्थी भी परेशान हैं। मेरिट सूची में नाम के बावजूद नाम वेटिंग में चले जाने से भी विद्यार्थी हैरान थे। वहीं दूसरी ओर विवि के प्लेसमेंट सेल की ओर से बीटेक, बीबीए, बीकॉम, एमबीए,एमकॉम, बीएससी व एमएससी पास के लिए नौकरी के लिए आयोजित फोन पर साक्षात्कार में विद्यार्थियों का चयन  किया गया। कोरोना संक्रमण के चलते ऐसा किया गया। तीन से सात लाख वार्षिक पैकेज पर चयन किया जाएगा।(UNA)