लॉक-डाउन अनाज एवं किराना सामग्री की डोर-टू-डोर डिलेवरी लोडिंग ऑटो के माध्यम से की जा सकेगी

0
6

अनाज एवं किराना सामग्री की डोर-टू-डोर डिलेवरी लोडिंग ऑटो के माध्यम से की जा सकेगी
किराना, फल एवं सब्जी की सप्लाई हेतु दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक प्रदत्त छूट समाप्त
बैतूल, 24 मार्च 2020
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के दृष्टिगत 23 मार्च 2020 को जारी आदेशों में संशोधन कर आदेश जारी किए हैं।

जारी संशोधित आदेश के अनुसार किराना, फल एवं सब्जी की सप्लाई हेतु दोपहर 12 बजे से दोपहर 3 बजे तक प्रदत्त छूट समाप्त कर दी गई है। अनाज एवं किराना सामग्री की भी डोर-टू-डोर डिलेवरी लोडिंग ऑटो के माध्यम से की जा सकेगी। जिन वाहनों से डोर-टू-डोर डिलेवरी का कार्य किया जाएगा, उन वाहनों को पास जारी किए जाएंगे। ऐसे पास संबंधित क्षेत्र के कार्यपालिक दण्डाधिकारी के हस्ताक्षर से जारी किए जाएंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में डिलेवरी वाहनों के पास उस क्षेत्र की जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं शहरी क्षेत्र के लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारी द्वारा तैयार किए जाकर संबंधित कार्यपालिक दण्डाधिकारी के हस्ताक्षर लेकर जारी किए जाएंगे। जारी किए जाने वाले पास की अद्यतन जानकारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा विधिवत् संधारित की जाएगी।
समाचार पत्र एवं दूध की डोर-टू-डोर डिलेवरी प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक होगी।

मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे, परन्तु एक समय में पांच से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे और उनके मध्य परस्पर दूरी एक मीटर हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाएगा।
विभिन्न हॉस्पिटल, नर्सिंग होम के कर्मचारी उनके लिए निर्धारित पाली के अनुसार समय पर ड्यूटी पर पहुंचेंगे, परन्तु सभी को अपने पास परिचय पत्र रखना अनिवार्य होगा। इन कर्मचारियों को कार्यालय प्रमुख/नियोक्ता तत्काल परिचय पत्र जारी करने के निर्देश दिए गए हैं।
सभी दुकानें (शॉप) एवं प्रतिष्ठान पूर्वानुसार यथावत् पूर्णत: बन्द रहेंगे।
अन्य तरह की अत्यावश्यक सेवा के व्यक्तियों/वाहनों हेतु पास संबंधित कार्यपालिक मजिस्टे्रट से लेना होगा।
अत्यावश्यक/आकस्मिक व्यक्तिगत कार्य हेतु जिले से बाहर जाने एवं जिले में प्रवेश करने के लिए संबंधित थाना प्रभारी अनुमति/पास जारी करेंगे।
शेष सभी नागरिक लॉक डाउन की अवधि में अपने घरों के अन्दर ही रहेंगे। लॉक डाउन आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति पर नियमानुसार भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 के तहत कार्यवाही की जाएगी।
अन्य अत्यावश्यक सेवा के व्यक्ति/वाहन यथा नगरपालिका/नगर परिषद्, बिजली कंपनी, राजस्व विभाग, दूरसंचार कंपनी के अधिकारी/कर्मचारी एवं मध्यप्रदेश दुग्ध संघ वाहन एवं अधिकारी/कर्मचारी और गैस कंपनी के वाहन जो घरेलू गैस सिलेण्डर की होम डिलेवरी तथा परिवहन करते हैं, इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। ऐसे कर्मचारी अपना परिचय पत्र एवं वाहन की पहचान कराकर आना-जाना कर सकेंगे।
एम्बुलेंस एवं गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों को लेकर आने-जाने वाले वाहनों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा।
यह आदेश आम जनता को संबोधित है। चूंकि वर्तमान में ऐसी परिस्थितियां नहीं है और न ही यह सम्भव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति को दी जाए। अत: यह आदेश एक पक्षीय पारित किया जाता है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। एपीदेमिक डिसिस एक्ट 1897 के तहत मध्यप्रदेश शासन द्वारा जारी किए गए नियम 23.03.2020 की कंडिका 10 के अंतर्गत भारतीय दण्ड संहिता की धारा 187, 188, 269, 270, 271 के अंतर्गत दंडनीय है एवं उल्लंघन कर्ता के विरूद्ध इन धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जा सकती है।