लोकतंत्र सूचकांक की श्रेणी में भारत 51 वे स्थान पर

0
63

विश्व लोकतंत्र सूचकांक की वैश्विक रैंकिंग में भारत 10 पायदान से गिरकर पहुँचा 51 वे स्थान पर ये गिरावट इसीलिए हुआ क्योकि पिछले 6 सालों में भारत के नागरिकों की स्वतंत्रता का हनन हुआ है जगह जगह राज्यो में कट्टरपंथी विचारधाराओं की शक्तियां बड़ी है जिससे अल्पसंख्यंको के बीच कही भय का माहौल उत्तपन्न हुआ है भारत तथा विश्व के लिए चिंताजनक समय है क्योंकि भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है
दिल्ली ब्यूरो / UNA