वाहन चालक, पाइप मिस्त्री, दुकानदार, सब्जी विक्रेता के नाम पर फर्जी एकाउंट खोल कर करोड़ों रुपये के जीएसटी ठगी

0
79

राउरकेला : राउरकेला में वाहन चालक, पाइप मिस्त्री, दुकानदार, सब्जी विक्रेता के नाम पर फर्जी एकाउंट खोल कर करोड़ों रुपये के जीएसटी ठगी के मामलों की जांच चल रही है। इसी बीच छेंड कालोनी फेज-1 में रहने वाले विभूति बिहारी रथ के नाम पर भद्रक में फर्जी कंपनी खोल कर 30 करोड़ रुपये की जीएसटी की ठगी का खुलासा हुआ है। जीएसटी विभाग की ओर से उसे नोटिस जारी करने के साथ ही इसकी जांच शुरू की गई है।
छेंड कालोनी के फेज-1 निवासी विभूति बिहारी रथ एक कंपनी में काम कर रहा था। कोरोना महामारी व लॉकडाउन के चलते कंपनी बंद हो गई और उसकी नौकरी चली गई। इससे परिवार का भरणपोषण करना उसके लिए मुश्किल हो गया। उसने नौकरी के लिए विभिन्न संस्थाओं में आवेदन दिए थे। आवेदन के साथ दिए गए प्रमाणपत्र के जरिए भद्रक में पंचमुखी ट्रेडर्स के नाम पर एक फर्जी कंपनी खोली गई एवं उसके जरिए 30 करोड़ की जीएसटी ठगी की गई। इस संबंध में राउरकेला जीएसटी कार्यालय से विभूति को नोटिस दिया गया है। नोटिस मिलने के बाद वह परेशान है। वह न तो कभी भद्रक गया है और न ही उसने कोई कंपनी खोली है। उसके नाम पर स्टेट बैंक आफ इंडिया में एक एकाउंट खोला गया है जिसकी जानकारी उसे नहीं है। उसने इस घटना की जांच कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग जीएसटी अधिकारियों से की है। इससे पहले राउरकेला में फर्जी कंपनी व बैंक एकाउंट खोल कर करोड़ों रुपये की जीएसटी ठगी की जा चुकी है पर जीएसटी विभाग को बड़ी कामयाबी हाथ नहीं लग रही है।