शिकारगंज पुलिस चौकी का हाल हुआ बेहाल

0
13
शिकारगंज/चकिया कोतवाली  के अन्तर्गत आने वाली चौकी का हाल दिन पर दिर बेहाल होता जा रहा है,वास्तव में बात करे करे तो पुलिस चौकी के लिए यहां पर कोई निजी आवास है ही नहीं जब कई साल पहले इस क्षेत्र  में नक्सल अधिक बढ़ गया था तब आनन फानन में चौकी खोलने। केलिए वन विभाग  के आवास का सहारा लेना पड़ा और जंगल विभाग  ने पुलिस। चौकी खोलने के लिए अपना आवास दे दिया, तब से लेकर  अब तक पोलिस वाले उसी आवास। में रह रहे है और आज तक पोलिस चौकी का नविनी करण भी नहीं हुआ,अब छत मकान का हालत ऐसा बना हुआ है कि पोलिस कर्मी डर कर गुजारा कर रहे है छत कब गिर जाय कोई भरोसा नहीं एक बार सर्वे भी काराया गया था शिकारगंज पुलिस चौकी के लिए लेकिन आज तक उसका भी कोई  पता नहीं क्या राज्य सरकार के  पोलिस चौकियों के निर्माण। के लिए पैसे नहीं  या फिर जिला। के अधिकारी अपनी आंखे बन्द करे हुए है  कि इतने वर्षों से जो पोलिस चौकी वन विभाग के आवास। मे गुजरा कर रही है, अगर आज वन विभाग को जरूरत पड़ गया और अपना आवास खाली कराने लगे तो पुलिस वाले कहां जाएंगे, छत इतना जर्जर  है कि कभी भी गिर सकता है क्या कोतवाली और जिले के उच्च अधिकारी अपनी आंखे बंद करके सो रहे या फिर देखकर भी अनदेखा कर रहे है इसका या फिर इन्हें राज्य सरकार  की तरफ से चौकी निर्माण। के लिए  कोई फंड नहीं मिला अगर नहीं मिला तो इनका दाइत्व बनता है  कि सरकार से इसकी मांग रखे और अगर निर्माण के लिए फंड आया तो अभी तब चौकी भवन निर्माण हुआ क्यों नहीं इसका जवाब कौन देगा जब हमारी रक्षा करने वाले ही सुरक्षित नहीं है तो ओ हमारी सुरक्ष कैसे करेंगे।
विवेक कुमार भारती 
ब्यूरो चीफ चन्दौली