शिमला मैं  मुगलकालीन दुर्बल चांदी के सिक्के मिलने के बाद हड़कंम्प

0
1

शिमला मैं  मुगलकालीन दुर्बल चांदी के सिक्के मिलने के बाद हड़कंम्प

शिमला ब्रिटिशकालीन राजधानी शिमला मैं  मुगलकालीन सीके मिलने के बाद रातो रात अमीर बनने की फिराक में फरार हुए ठेकेदार और मजदूर मुरादाबाद में पकड़े गए इससे पहले कि वे दुर्बल चांदी के सिक्कों का सौदा कर पाते वे मुरादाबाद पुलिस के हत्थे चढ़ गए इस दौरान जब पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि उन्हें यह सिक्के शिमला में खुदाई के दौरान मिले शिमला में अधिकारियों को इन सिक्कों की भनक तब लगी जब शिमला जिलाधीश और पुलिस को इसकी सूचना मिली मुरादाबाद ये सिक्के कैसे पहुंच गए इसको लेकर अधिकारियों के होश उड़ गए आरोपी चुपचाप तरीके से सिक्कों को ले गए थे बताया जा रहा है कि यह मुगलकालीन यह दुर्बल सिक्के 698 है यह सिक्के 400 से 500 साल पुराने बताए जा रहे हैं इन सिक्कों का वजन 40 से 50 किलो ग्राम के आसपास है मुरादाबाद पुलिस ने इन सिक्कों को बरामद कर लिया गया है उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के जो ठेकेदार और मजदूर सिक्के लेकर गए थे उनके खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है बताया जा रहा है की मुरादाबाद में इन सिक्कों का खुलासा तब हुआ जब वहां पर सिक्कों के बंटवारे को लेकर ठेकेदार और मजदूर आपस में लड़ पड़े तभी मुरादाबाद पुलिस को इस बात का पता चला बताया जा रहा है शिमला में खुदाई का काम चल रहा था तो ठेकेदार ने जेसीबी को लगाया था खुदाई के दौरान उन्हें एक लोहे की कड़ी मिली जब उन्होंने उसको खोला तो उसके अंदर सिक्के मौजूद थे शिमला में यह सिक्के किस जगह मिले हैं अभी तक इसका खुलासा नहीं हो पाया आरोपियों से पूछताछ जारी है मुरादाबाद पुलिस को जो सिक्के बरामद हुए उसमें एक सिक्के में अकबर मोहम्मद जलालुद्दीन लिखा हुआ है ऐसे में अंदाजा लगाया जाता है कि यह सिक्के मुगलों के जमाने के हैं और बताया जा रहा है कि कुछ सिक्को में कलाम लिखा हुआ है बताया जा रहा है इन सिक्कों की कीमत करोड़ों में है