संपूर्ण लॉकडाउन का चौथा दिन, 17 दिन बाकी

0
36

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद व रामविलास पासवान बिहार के प्रभारी हैं.केंद्र और राज्य सरकार के बीच समन्वय स्थापित कर रहे हैं…

पटना,28 मार्च। आईसोलेशन एनएमसीएच में 5,एम्स पटना में 2 और मुंगेर में 2 रेफर मरीज पॉजिटिव हैं।कुल 9 पॉजिटिव मरीज हैं।मुंगेर के एक व्यक्ति की मौत हो गयी है।

मुंगेर के एक व्यक्ति की मौत एम्स में इलाज के दौरान हो गयी थी।मुंगेर के मृतक कोरोना पॉजिटिव के रिश्तेदारों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे जिसमें से एक महिला और एक बच्चा कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। आज सुबह दो और कोरोना पॉजिटिव केस मिले जिसमें से एक मुंगेर के उसी युवक के संपर्क में आया था।दोनों पॉजिटिव मरीज पुरुष हैं जिनमें से एक पटना के जगनपुरा स्थित उसी सरनाम अस्पताल का कर्मी है जहां मुंगेर के मृतक युवक का डायलिसिस किया गया था।इस अस्पताल के 30 कर्मियों का सैम्पल लिया जाएगा और जांच करवाई जाएगी। सभी को आईसोलेट कर दिया गया है।

फिलवक्त बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर नहीं है। पिछले 24 घंटे के दौरान तीन पॉजिटिव केस मिला है। तीनो कोरोना पॉजिटिव केस मृतक सेफ से जुड़ा है।याद रहे कि तीन दिन पहले मुंगेर के एक व्यक्ति की मौत एम्स में इलाज के दौरान हो गयी थी। बाद में रिपोर्ट आया कि वो कोरोना पॉजिटिव है कल मुंगेर में रहने वाली एक महिला और एक बच्चा की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी।

बिहार में कोरोना (Corona) पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब बढ़ती जा रही है। अभी-अभी पटना के राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीच्यूट (RMRI) के निदेशक डॉ प्रदीप दास ने जानकारी दी है कि गुरुवार को जिन दो कोरोना संदिग्ध की रिपोर्ट सस्पेक्टेड थी उसे कंफर्म कर लिया गया है और दोनों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। ये दोनों मरीज पटना के एनएमसीएच के आईडीएच में भर्ती हैं। इस तरह अब बिहार में कोरोना पॉजिटिव के नौ केस कंफर्म हो चुके हैं जिसमें से एक युवक की मौत हो चुकी है।

डॉक्टर दास से फोन पर बात हुई ऑडियो से मिली जानकारी के अनुसार खेमनीचक स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती पूर्व में एम्स में कोरोना पॉजिटिव मृतक युवक के संपर्क में आए एक और अस्पताल कर्मी की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है तो वहीं दूसरी पॉजिटिव रिपोर्ट सिवान निवासी एक युवक की आई है जो दुबई से लौटा था। एनएमसीएच के संक्रामक रोग अस्पताल में कोरोना के 5 पॉजिटिव मरीज़ भर्ती हुए हैं।

वहीं, स्वास्थ्य विभाग ने आधिकारिक तौर पर यह जानकारी दी है कि कल तक राज्य में कोरोना के कुल 7 पॉजिटिव केस थे। जिनकी संख्या आज 9 हो गई है। 2 नए मरीज जो आज मिले हैं उनमें एक सिवान का है जबकि दूसरा नालंदा का। नालंदा का व्यक्ति एक अस्पताल में काम करता था जहां मुंगेर के सैफ अली को डायलिसिस के लिए भर्ती किया गया था। उसके संपर्क में आने की वजह से नालंदा वाले व्यक्ति को कोरोना संक्रमण हुआ है। सिवान का व्यक्ति हाल ही में दुबई से लौटा है।

इस खबर ने बिहार के स्वास्थ्य महकमे की पोल खोल दी है। क्योंकि अगर मुंगेर से आए कोरोना पॉजिटिव युवक के इलाज में सावधानी और सतर्कता बरती गई होती तो ये हाल ना होता। हालांकि अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या नौ पहुंचने के बाद पूरे बिहार के लिए सावधानी और सतर्कता बरतने की ज्यादा जरूरत है।

बिहार में कोरोना वायरस (Corona virus) से संक्रमित मरीजों की संख्‍या नौ हो गई है। आरएमआरआई में कोरोना के 85 सैंपल जांच में एक की रिपोर्ट पॉजिटिव जबकि 82 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई।वहीं 2 मरीजों की रिपोर्ट संदिग्ध बताई जा रही है जिसकी शुक्रवार को दोबारा जांच की जाएगी।

एनएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 20 वर्षीय युवक में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। आरएम आरआई में जांच के बाद इस बात की पुष्टि हुई कि पटना के खेमनीचक का रहनेवाला पीड़ित युवक उसी सरनाम अस्पताल का वार्ड बॉय है जहां मुंगेर के कोरोना पीड़ित युवक का इलाज हुआ था।

बता दें कि बिहार में कोरोना से मृत हुए एक मात्र युवक मुंगेर का रहने वाला था और वह कतर से भारत लौटा था।वह किडनी पेशेंट भी था और एम्स में भर्ती किए जाने से पहले उसका डायलिसिस 19 मार्च को पटना के जगनपुरा स्थित सरनाम अस्पताल में हुआ था।इसके बाद उसे पटना एम्स में भर्ती किया गया था जहां उसकी मौत के बाद आई रिपोर्ट में वह कोराना पॉजिटिव पाया गया था।

इस बात की जानकारी के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सरनाम अस्पताल के कई और कर्मियों की जांच करने का फैसला किया है।गुरुवार को सरनाम अस्पताल के वार्ड बॉय के की पॉजिटिव रिपोर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया और सिविल सर्जन ने अस्पताल प्रबंधन से पूछताछ की। जानकारी के अनुसार शुक्रवार को अस्पताल के 30 कर्मियों का सैम्पल लिया जाएगा और जांच करवाई जाएगी।

बात यही तक नहीं है आज भारत सरकार के कैबिनेट सचिव राजीव गोवा से बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बात किया है और बिहार को टेस्टिंग किट, PPE और N 95 मास्क शीघ्र मुहैया कराने का आग्रह किया है लेकिन इसकी उम्मीद कम ही है बातचीत के बाद मीडिया से बात करते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि पीएमसीएच को जांच करने कि अनुमति दे गयी है। लेकिन अगर संदिग्ध मरीज़ों कि संख्या बढी तो फिर मुश्किल हो जायेगा वैसे आज से जीविका समूहों द्वारा बनाये गये मास्क आज से जिलो में जाना शुरू हो गया है वही हाजीपुर और भोजपुर में सेनेटाइजर बनना आज से शुरू हो गया औऱ शीघ्र ही बिहार के गांव गांव में मास्क और सेनेटाइजर पहुंच जायेगा ।

आलोक कुमार