सांगोद

0
105

पूर्व विधायक ने खरीद केन्द्र खोलने नियमों में संशोधन हेतु सहकारिता मंत्री को पत्र लिखा

सांगोद,9 मार्च(ब्यूरो)

राज्य सरकार द्वारा राजफैड एवं तिलहन उत्पादक सहकारी समितियों द्वारा समर्थन मूल्य पर दलहन एवं तिलहन जिन्सों के विक्रय हेतु क्रय-विक्रय सहकारी समिति, ग्राम सेवा सहकारी समिति एवं ई-मित्र के माध्यम से किसानों द्वारा ऑनलाईन पंजीकरण कराया जा रहा है, जिस पर एक भामाशाह से एक किसान का ही रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है एवं खरीद सीमा भी 25 क्विंटल ही की गयी है, जिस कारण पूर्व विधायक नागर ने ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन में संशोधन करने व खरीद सीमा बढ़ाने हेतु प्रदेश के सहकारिता मंत्री उदयलाल अंजना, प्रमुख शासन सचिव व जिला कलक्टर को पत्र लिखकर मांग की।

पूर्व विधायक हीरालाल नागर ने बताया कि वर्तमान में भामाशाह पर एक ही किसान का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। जबकि परिवार में संयुक्त या अलग-अलग खातेदार है और एक भामाशाह होने के कारण संयुक्त या अलग-अलग खातेदारों का ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है। नियमों में संशोधन कर संयुक्त या अलग-अलग खातेदार का रजिस्ट्रेशन एक ही भामाशाह पर करवाये जाये ताकि किसान अपनी जिन्स को सही तरीके से विक्रय कर सके। साथ ही पूर्व विधायक नागर ने बताया कि वर्तमान में एक रजिस्ट्रेशन पर 25 क्विंटल ही खरीदा जा रहा है। जबकि पूर्ववर्ती सरकार में एक रजिस्ट्रेशन पर 40 क्विंटल खरीद किया जाता था। अतः किसान का दलहन, तिलहन 25 क्विंटल से बढ़ाकर 40 क्विंटल खरीद किया जाये, ताकि किसानों को अपनी उपज का सही दाम एवं सम्पूर्ण उपज बेची जा सके।

कनवास तहसील मुख्यालय पर खुले खरीद केन्द्र

पूर्व विधायक नागर ने बताया कि राजस्थान सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर दलहन, तिलहन (सरसों, चना) के विक्रय हेतु ऑनलाईन पंजीकरण किया जा रहा है। किसानों द्वारा ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन करने पर कनवास तहसील का विकल्प नहीं खुलने से कनवास क्षेत्र के किसान चिंतित है।

पूर्व विधायक कहा कि वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा नये नियमों में एक ही तहसील में एक खरीद केन्द्र खोलने का प्रावधान है, जिनमें सांगोद विधानसभा क्षेत्र के सांगोद व दीगोद तहसील का तो विकल्प खुल रहा है परन्तु कनवास तहसील का विकल्प नहीं खुल रहा है। सरकार के नियमानुसार अगर कनवास तहसील के खरीद केन्द्र का विकल्प  नहीं खोला गया तो किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा, जिस कारण कनवास तहसील के किसान अपने जिन्स को समर्थन मूल्य पर विक्रय करने में असमंजस में है कि अपनी फसल को समर्थन मूल्य पर बेच भी पायेंगे या नहीं। पूर्व विधायक नागर ने पत्र लिखते हुए मांग कि, की राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर कनवास तहसील मुख्यालय पर खरीद केन्द्र खोलते हुए ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन चालू करने की मांग की, ताकि समय पर क्षेत्र के किसान अपना ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन कर सके।