महिलाओं के अपमान से माली समाज में आक्रोश

  • माली समाज की महिलाओं के लिए अभद्र भाषा लिखने से समाज शर्मसार
  • थाने में मामला दर्ज, शिरफिरों की गिरफ्तारी की मांग, माली समाज ने गिरफ्तार नहीं होने पर होगा उग्र आन्दोलन

कस्बे में रविवार देर रात को किसी शिरफिरे ने माली समाज की महिलाओं के लिए सार्वजनिक स्थल की दीवारों पर अभद्र भाषा का उपयोग कर लिखने से माली समाज की महिलाएं शर्मसार है, नगर की सभी माली समाज की महिलाएं इस कृत्य से शर्मिंदगी महसूस कर रही है। जिससे माली समाज की महिलाओं का सामाजिक अपमान हुआ है। इस अपमान से माली  समाज की महिलाओं व पुरूषों में भारी आक्रोश है। इस मामले में माली समाज ने सोमवार को प्रकरण दर्ज कराया है। साथ ही माली समाज ने पुलिस प्रशासन को सामाजिक आहत पहुंचाने वाले आरोपीयों को शीघ्र ही 3 दिन में गिरफ्तारी की मांग की है। तथा नियत समय पर गिरफ्तारी नहीं होने पर माली  समाज नगर में उग्र आन्दोलन करेगा।

यह मामला नगर में रविवार रात को शिफिरों ने माली समाज की महिलाओं लिए अभद्र भाषा का प्रयोग कोटा रोड़ पर स्थित माताजी के मंदिर की दीवार, कोटा रोड़ की सब्जीमंडी व स्टेट बैंक के पास स्थित कॉम्पलेक्स की दीवारों पर बहुत की घिनौनी अभद्र भाषा लिखी होने से कारण माली समाज ने पुलिस थाने पहुंचकर थानाधिकारी को ज्ञापन देकर पुलिस में मामला दर्ज कराते हये सीरफिरे को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की है।

माली समाज की महिलाओं व पुरूषों में भारी आक्रोश है, साथ ही समाज के लोगों ने थाने पर इकट्‌ठा होकर आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे। जिस पर थानाधिकारी ने जल्द ही गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। साथ ही माली समाज ने भी पुलिस को 3 दिन का समय दिया है। दिये गए समय में गिरफ्तार नहीं होने पर माली समाज सांगोद नगर में उग्र आन्दोलन करेगा। वहीं, सांगोद पुलिस ने भादसं 505 में प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ज्ञापन के दौरान माली समाज के अध्यक्ष राजेन्द्र गहलोत, महामंत्री बाबूलाल धाणक्या, रामचरण सुमन, लीलाधर सुमन, सोनु, हेंत, लालचन्द, प्रकाश, नवल सुमन, श्यामलाल, मोहन लाल अरविन्द, सुरेन्द्र सुमन, बृजबिहारी , श्याम, मनोजन, जीतू सुमन, महावीर, अशोक फोजी सहित समाज कई लोग मौजूद थे।