साइबर अपराधी राजेश मंडल ने एसपी दीपक कुमार सिन्हा के सामने यह डेमोंस्ट्रेशन दिया

0
173

जामता: मैं बैंक मैनेजर बोल रहा हूं. आपका अकाउंट बंद होने जा रहा है. जल्दी से अपडेट करवाएं. साइबर अपराधी राजेश मंडल ने एसपी दीपक कुमार सिन्हा के सामने यह डेमोंस्ट्रेशन दिया. किस तरह लोगों को अपने झांसे में लेकर उनके खाते से पैसे उड़ा लेता है, इसके बारे में जानकारी दी. उसने बताया कि उसके गांव के 90 प्रतिशत युवा साइबर अपराध से जुड़े हैं. गांव का नाम है सियाटांड़.
साइबर अपराधी राजेश मंडल और सुशील मंडल सगे भाई हैं. वर्ष 2015 से साइबर अपराध के जरिये लोगों के बैंक अकाउंट खाली कर रहे हैं. दोनों भाई जेल भी जा चुके हैं. राजेश और संजय सहित 9 साइबर अपराधी शनिवार को जामताड़ा साइबर थाना पुलिस के हत्थे चढ़े. एसपी ने बताया कि गिरफ्तार किये गये साइबर क्रिमिनल्स में से अधिकतर का पुराना क्रिमिनल रिकॉर्ड है. एसपी ने बताया कि साइबर थाना पुलिस को लगातार सफलता मिल रही है. शनिवार को करमाटांड़ थाना क्षेत्र के सियाटांड़ गांव से 9 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया. इनके खिलाफ जामताड़ा के साइबर थाना में आइटी एक्ट एवं आइपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. इनके पास से 9 मोबाइल फोन, एक मोबाइल का डिब्बा, 10 सिम कार्ड तथा एक आधार कार्ड बरामद हुए हैं.
लॉकडाउन में फीस नहीं भरने पर स्कूल ने काटा झारखंड के शिक्षा मंत्री की नातिन का नाम, दौड़े-दौड़े स्कूल पहुंचे जगरनाथ महतो
एसपी श्री सिन्हा ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर सियाटांड़ में साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए साइबर डीएसपी सुमित कुमार की अगुवाई में टीम गठित कर छापेमारी करायी गयी. इसमें विनोद मंडल, पन्नालाल मंडल, दिलीप मंडल, रोबिन मंडल, विवेश मंडल, राजेश मंडल, भीम मंडल, राजेश मंडल तथा सुशील मंडल पुलिस के हत्थे चढ़ गये.
एसपी ने बताया कि इन सभी अपराधियों का पुराना आपराधिक इतिहास भी है. उन्होंने कहा कि साइबर अपराध के विरुद्ध अभियान को और तेज किया जायेगा. एसपी ने कहा कि पुलिस सभी साइबर क्रिमिनल्स का इतिहास खंगालने में जुटी है. साइबर क्रिमिनल्स ने ठगी के जरिये लाखों की संपत्ति अर्जित की है.(UNA)