सासाराम संवाददाता-चेनारी में नही मिल रहा गरीबों को सस्ता अनाज

0
1

चेनारी प्रखंड में कई पंचायतों में इन दिनों गरीबों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना तथा अंतोदय योजना के तहत सस्ते दाम पर मिलने वाले अनाजों का लाभ नहीं मिल रहा है। इससे गरीबों में काफी आक्रोश है। गरीबों का कहना है कि जन वितरण के दुकानदार द्वारा कभी-कभार अनाज देते हैं। अधिकारी भी मूकदर्शक हैं। गत दो साल के अंदर इन डीलरों के ऊपर कोई कार्रवाई भी नहीं की गई।

कहा जाता है कि अधिकारियों की मिलीभगत से प्रत्येक माह लाखों रुपए के अनाज की कालाबाजारी की जा रही है। इस धंधे में अधिकारी के अलावा कर्मचारी व डीलर भी शामिल हैं। कुछ साहूकारों द्वारा गोदाम से ही माल की आपूर्ति की जा रही है। प्रखंड क्षेत्र में राष्ट्रीय खाद सुरक्षा योजना के तहत कुल 76058 यूनिट है। लाभार्थियों को 1531 क्विंटल गेहूं और 2296 क्विंटल चावल डीलरों को उपलब्ध कराया जाता है। जबकि अंत्योदय योजना के पीला कार्डधारियों के बीच 2394 लाभार्थी परिवार के बीच 335 क्विंटल गेहूं और 502 क्विंटल चावल प्रत्येक माह उपलब्ध कराया जाता है। सरकारी दुकानदारों को दो रुपए किलो गेहूं और तीन रुपए किलो चावल लाभार्थियों के बीच वितरण करना है। एक माह का अनाज वितरण करने पर तीन माह तक दुकानदार पीडीएस दुकान बंद रखता है।उपभोक्ताओं ने बताया कि जिला की भी टीम दुकानों की जांच नहीं करती है। प्रखंड में कुल 12 पंचायतों में कुल 37 डीलर काजाएगीजर्यरत हैं। प्रखंड में इन दिनों डीलरों की चांदी कट रही है। अधिकारी आपूर्ति पदाधिकारी सह बीडीओ नीरज आनंद का कहना है कि किसी भी लाभार्थी द्वारा कोई अनाज गबन करने की लिखित सूचना हमें नहीं मिली है। अगर कोई शिकायत मिलेगी, तो तत्काल जांच की जाएगी