*जागृति महिला समिति ने किया स्तन कैंसर जागरुकता शिविर का आयोजन*

50 छात्राओं की हुई निःशुल्क स्वास्थ्य जांच

नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के कृष्णशिला क्षेत्र की जागृति महिला समिति ने शुक्रवार को अंबेडकर विद्यालय, जवाहरनगर में स्तन कैंसर जागरुकता शिविर का आयोजन किया। कृष्णशिला क्षेत्र की मेडिकल टीम के साथ आयोजित किए गए कैंप में जागृति महिला समिति की अध्यक्षा श्रीमती ममता पाण्डेय बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहीं।

कृष्णशिला क्षेत्र की क्षेत्रीय चिकित्सा अधिकारी डॉ॰ मंजुला सिंह एवं उनकी मेडिकल टीम ने शिविर में शामिल हुई सभी 50 छात्राओं को स्तन कैंसर के कारण, उसकी पहचान और इलाज के बारे में विस्तार से समझाया।
मेडिकल टीम ने शिविर में शामिल छात्राओं को स्तन कैंसर के प्रारंभिक लक्षण की जानकारी दी और बताया कि इस कैंसर की जल्द से जल्द पहचान कर लिए जाने और इलाज शुरू कर दिए जाने से इसके पूरी तरह ठीक होने की संभावना प्रबल रहती है। छात्राओं को जानकारी दी गई कि यदि महिलाओं में अधिक श्वेत प्रदर (धात यानी सफेद पानी) जाना, स्वाभाविक से ज्यादा माहवारी होना, माहवारी के बीच रक्त स्राव का होना, रजो निवृत्ति (माहवारी बंद) का महसूस होना, स्तन पर गिल्टी (गांठ) का महसूस होना एवं स्तन से पानी या खून आना जैसे लक्षण दिखते हैं, तो उन्हें यथाशीघ्र उसकी जांच करानी चाहिए।

साथ ही, सभी छात्राओं की निःशुल्क सामान्य स्वास्थ्य जांच कर आवश्यक दवाइयां भी दी गईं। छात्राओं को उनके स्वस्थ रहने और खान-पान से संबंधित भी जानकारी दी गई।

जागृति महिला समिति की अध्यक्षा श्रीमती ममता पाण्डेय ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि सही समय पर स्क्रीनिंग एवं जांच द्वारा स्तन कैंसर का पता चलने पर इस कैंसर का शत-प्रतिशत इलाज संभव है। लेकिन भारत में स्तन कैंसर के 60 प्रतिशत से ज्यादा मामलों में महिलाओं को काफी देर से तीसरी एवं चौथी स्टेज में कैंसर का पता चलता है, जिससे उनका उपचार व बचाव मुश्किल हो जाता है। इसलिए उन्होंने छात्राओं से स्तन कैंसर के सभी लक्षणों के प्रति पूरी तरह जागरुक रहने का आह्वान किया।

स्तन कैंसर जागरुकता शिविर के आयोजन में जागृति महिला समिति की श्रीमती रीता तिवारी, श्रीमती ललिता यादव, श्रीमती शशिकला यादव, श्रीमती मंजू प्रसाद सहित समिति की अन्य सदस्याओं ने सहयोग दिया।