सोनू सूद के परिसर में आयकर अधिकारी, आम आदमी पार्टी का आरोप- डराने की कोशिश

0
54

New Delh आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस और सोनू सूद के फ़ैन्स ने आयकर अधिकारियों के पहुंचने पर सवाल उठाया. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि ये सोनू सूद को ‘डराने की कोशिश’ है.
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने हाल ही में घोषणा की थी कि सोनू सूद, आम आदमी पार्टी सरकार के ‘देश के मेंटोर’ कार्यक्रम के ब्रैंड एंबेसडर होंगे. सोनू सूद ने उस समय साफ़ किया था कि उनका ‘राजनीति में आने का कोई इरादा नहीं है.’
आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया कि अभिनेता सोनू सूद से जुड़े मुंबई के परिसर और कुछ अन्य जगहों पर इनकम टैक्स के अधिकारी पहुंचे हैं.
“अधिकारी मुंबई के अलावा लखनऊ समेत कम से कम छह जगहों पर कार्रवाई कर रहे हैं.”
अधिकारियों के हवाले से बताया कि आयकर विभाग ‘एक रियल एस्टेट सौदे की जांच कर रहा है.’
हालांकि, इस बात की जानकारी नहीं हो सकी कि क्या विभाग ने सोनू सूद के घर पर भी कोई जांच की है या नहीं. ये ख़बर सामने आते ही प्रतिक्रियाएं आनी भी शुरू हो गईं. आम आदमी पार्टी ने इसे लेकर केंद्र सरकार की मंशा पर सवाल उठाने शुरू कर दिए.
आम आदमी पार्टी का आरोप
कोराना महामारी के दौरान मुश्किल में घिरे लोगों की मदद को लेकर चर्चा में आए सोनू सूद को अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने हाल में ‘देश के मेंटोर’ कार्यक्रम का ब्रैंड एंबेसडर बनाया. इस कार्यक्रम के ज़रिए स्कूली बच्चों को भविष्य के बारे में मार्गदर्शन दिया जाएगा.
सोनू सूद के परिसर पर आयकर विभाग के ‘सर्वे’ की रिपोर्ट पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ‘जीत सच्चाई की होती है.’
केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, “सच्चाई के रास्ते पर लाखों मुश्किलें आती हैं, लेकिन जीत हमेशा सच्चाई की ही होती है. सोनू सूद जी के साथ भारत के उन लाखों परिवारों की दुआएं हैं जिन्हें मुश्किल घड़ी में सोनू जी का साथ मिला था.”
सोनू सूद बीते महीने के आखिरी में अरविंद केजरीवाल के साथ मंच साझा करते हुए दिखाई दिए थे. आम आदमी पार्टी नेता आतिशी ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया और आयकर विभाग की कार्रवाई पर सवाल उठाए.
आतिशी ने कहा, “सोनू सूद ऐसे व्यक्ति हैं जो ना सिर्फ बॉलीवुड के फ़िल्म स्टार हैं बल्कि एक सोशल वर्कर और जनता की मदद करने वाले व्यक्ति हैं जिन्होंने कोविड के दौरान लोगों को राशन पहुंचाया. लोगों की मदद की. ये बहुत दुखद बात है कि भाजपा की सरकार उनको डराने के लिए एक आईटी रेड करती है इसे सर्वे कहते हैं वो.” तृणमूल कांग्रेस ने क्या कहा
आयकर विभाग की कार्रवाई को लेकर तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने भी ट्वीट किया.
हालांकि, सोनू सूद की ओर से अभी तक इस मामले में कोई बयान या प्रतिक्रिया नहीं आई है.
सोनू सूद कोरोना महामारी के दौरान ज़रूरतमंद लोगों तक सामान पहुँचाने और अलग-अलग जगहों पर फँसे मज़दूरों को उनके घर तक पहुँचाने के लिए चर्चा में रहे हैं. सोशल मीडिया पर उनका नाम अक्सर ट्रेंड करता रहा है. कई बार उन्हें ‘मसीहा’ और दूसरों के लिए ‘प्रेरणा स्रोत’ भी बताया गया.
कोरोना की दूसरी लहर के दौरान उनके कई वीडियो सामने आए जिनमें वे ऑक्सीजन सिलेंडरों की डिलिवरी ख़ुद करते दिखे. इसके अलावा उनकी अपील से कोरोना प्रभावित लोगों की मदद के लिए अच्छी ख़ासी रकम भी जुटाई गई.
ये रिपोर्ट भी आई कि सोनू सूद से प्रेरित होकर आंध्र प्रदेश के विज़ियनगरम ज़िले के सालुरू मंडल के आदिवासी गांव के युवाओं ने अपने गांव में सड़क निर्माण का फ़ैसला लिया और वो भी बिना किसी अधिकारी और सरकारी मदद के.